News Times 7
अर्थव्यवस्था बड़ी-खबर

ग्राहकों को स्विगी, जोमैटो, से खाना मंगाना पड़ सकता है महंगा ,जानिये क्यों ?

होम डिलीवरी खाना आर्डर करने वालो को अब जेब ढीली करनी पड़ सकती है क्योकि स्विगी, जोमैटो, GST लगाने पर सरकार विचार कर रही है ,वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अगुवाई में 17 सितंबर, 2021 को जीएसटी परिषद की 45वीं बैठक होगी। कोरोना काल में कई लोगों ने बाहर रेस्तरां में जाकर खाना खाने के बजाय घर पर खाना ऑर्डर किया। लेकिन अब ऑनलाइन फूड डिलीवरी महंगी हो सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जीएसटी परिषद इस पर विचार करेगी। Zomato: पहले डाली लत अब स्विगी और जोमैटो से खाना ऑर्डर हुआ महंगा...पढ़िए कैसे - zomato and swiggy increased delivery charges, food become costlier | Navbharat Timesकमेटी ने फूड डिलीवरी एप्स को कम से कम पांच फीसदी जीएसटी के दायरे में लाने की सिफारिश की है। ऐसे में ग्राहकों को स्विगी, जोमैटो, आदि से खाना मंगाना महंगा पड़ सकता है।

विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे 9142802566

एक जनवरी 2022 से हो सकता है प्रभावी 
2019-20 और 2020-21 में दो हजार करोड़ रुपये के जीएसटी घाटे का अनुमान लगाते हुए, फिटमेंट पैनल ने सिफारिश की है कि फूड एग्रीगेटर्स को ई-कॉमर्स ऑपरेटरों के रूप में वर्गीकृत किया जाए और संबंधित रेस्तरां की ओर से जीएसटी का भुगतान किया जाए। कई रेस्तरां जीएसटी का भुगतान नहीं कर रहे हैं, जबकि कुछ पंजीकृत भी नहीं हैं। रेट फिटमेंट पैनल ने सुझाव दिया है कि यह बदलाव एक जनवरी 2022 से प्रभावी हो सकता है।

जोमैटो और स्विगी दे रही हैं भारी डिस्काउंट, आपने फायदा उठाया? | ET Hindi
पेट्रोलियम पदार्थ भी आ सकते हैं जीएसटी के दायरे में
इसके साथ ही एक या एक से अधिक पेट्रोलियम पदार्थों- पेट्रोल, डीजल, प्राकृतिक गैस और एविएशन टर्बाइन फ्यूल (विमान ईंधन) को भी जीएसटी के दायरे में लाया जा सकता है। केरल हाईकोर्ट की ओर से पेट्रोल व डीजल को जीएसटी के दायरे में लाए जाने के निर्देश के बाद जीएसटी परिषद के समक्ष यह मामला शुक्रवार को लाया जाएगा। GrabFood | Grab SG

Advertisement

इन मुद्दों पर भी हो सकती है चर्चा
कोरोना वायरस महामारी की आशंकाओं के बीच जीएसटी परिषद की यह 45वीं बैठक बेहद अहम है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस बैठक में अन्य चीजों के अतिरिक्त कोविड-19 से संबंधित आवश्यक सामान पर रियायती दरों की समीक्षा की जा सकती है। इसके साथ ही इस बैठक में राज्यों को राजस्व नुकसान पर मुआवजे पर भी चर्चा हो सकती है। कोविड-19 की दूसरी लहर से आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुई हैं। जनता पर महंगाई का बोझ भी बढ़ा है। ऐसे में वित्त मंत्री की अगुवाई में होने वाली यह बैठक बेहद अहम है। non veg food for veg order: swiggy ne Bhrasht kiya Policekarmi ka dharm, Constable ne order kiya veg khana, deliver hua non veg:स्विगी ने भ्रष्ट किया पुलिसकर्मी का धर्म! कॉन्स्टेबल ने ऑर्डर किया वेज खाना, डिलीवर हुआ नॉन वेज - Navbharat Times

लगातार दूसरे महीने एक लाख करोड़ के पार रहा GST संग्रह
मालूम हो कि सरकार का माल एवं सेवा (जीएसटी) संग्रह अगस्त 2021 में 1,12,020 करोड़ रुपये रहा है। वित्त मंत्रालय ने बताया कि अगस्त में 1,12,020 करोड़ रुपये के कुल जीएसटी संग्रह में सकल जीएसटी संग्रह में केंद्रीय जीएसटी (सीजीएसटी) की हिस्सेदारी 20,522 करोड़ रुपये रही, राज्य जीएसटी (एसजीएसटी) की हिस्सेदारी 26,605 करोड़ रुपये रही, एकीकृत जीएसटी (आईजीएसटी) की हिस्सेदारी 56,247 करोड़ रुपये और सेस (Cess) की हिस्सेदारी 8,646 करोड़ रुपये रही।ऑनलाइन फूड ऑर्डर करने वालों लिए बड़ी खबर, चार्जेस बढ़ाने की वजह से महंगा हुआ खाना मंगाना-Online food order Zomato Swiggy UberEats hike food delivery charges Know in Hindi – News18 Hindi

निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए बिहार ,UP, MP के हर जिले से रिपोर्टर आमंत्रित हैं!
बायोडाटा वाट्सऐप करें –  9142802566 ,   1Newstimes7@gmail.com

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

शिवराज सरकार मे राज्यमंत्री कम्प्यूटर बाबा गिरफ्तार, अवैध निर्माण पर चला बूलडोजर

News Times 7

छीन सकता है BSP से राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा?

News Times 7

साल 2020 में वायरल हुए ये मजेदार वीडियोज़ हमेशा रखें जाएंगे याद, आप भी देखें…

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़