News Times 7
दुर्घटना बड़ी-खबर

उत्तराखंड चमोली के हादसे में अभी जीवन से जंग लड़ने के कार्य जारी 166 अभी भी लापता

जीवन से जंग जीतने की कवायद अभी भी उत्तराखंड के चमोली में जारी है हर रोज बचाव कार्य में तेजी लाई जा रही है जिससे फंसे हुए 166 जिंदगीयों को बचाया जा सके,Image result for उत्तराखंड चमोली के हादसे में अभी जीवन से जंग लड़ने के कार्य जारी 166 अभी भी लापता

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि चमोली में आपदा प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव कार्य तेजी से चल रहे हैं। कहा कि एनटीपीसी की सुरंग में मलबा अधिक भरने की वजह से उसे हटाने में समय अधिक लग रहा है। राहत एवं बचाव कार्यों में और तेजी आ सके इसके लिए अलग-अलग फोर्स एवं अधिकारियों को जिम्मेदारियां दी गई है। केन्द्र सरकार का भी इस आपदा में बचाव एवं राहत कार्यों में राज्य को पूरा सहयोग मिल रहा है। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से भी राहत कार्यों की निरंतर समीक्षा की जा रही है।

– ऋषि गंगा की जल प्रलय में जिन लोगों ने अपनों को खोया वे तो प्रभावित हुए ही, लेकिन आपदा ने तपोवन बाजार की रौनक भी छीन ली है। तपोवन और ऋषि गंगा परियोजना के सैकड़ों मजदूर और स्थानीय गांवों के लोगों की बाजार में दिनभर चहल-पहल बनी रहती थी। अब आपदा के बाद से यहां सन्नाटा पसरा हुआ है।Image result for उत्तराखंड चमोली के हादसे में अभी जीवन से जंग लड़ने के कार्य जारी 166 अभी भी लापता

Advertisement

-आपदा प्रभावित तपोवन और रैणी क्षेत्र में प्रभावितों और अपनों की खोज में आ रहे लोगों के लिए हेमकुंड साहिब ट्रस्ट के साथ ही विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओं की ओर से भंडारे का आयोजन किया जा रहा है। हेमकुंड साहिब ट्रस्ट की ओर से रैणी गांव में कई दिनों से भंडारा लगाया हुआ है और गोविंदघाट गुरुद्वारे में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, पुलिस के साथ ही करीब 250 लोगों के लिए रात्रि विश्राम और खाने की व्यवस्था भी की गई है। गुरुद्वारे के वरिष्ठ प्रबंधक सरदार सेवा सिंह ने बताया कि तपोवन में भी भंडारा लगाया गया है।

– जिला मजिस्ट्रेट चमोली का कहना है कि चमोली में अब तक कुल 38 शव बरामद किए गए हैं। जिनमें से 12 की पहचान हो चुकी है और 26 अज्ञात हैं।

– सुरंग में 300 एमएम की छड़ से ड्रिल करने के लिए मशीनें तपोवन पहुंच गई हैं। एनटीपीसी के जीएम आरपी अहिरवार ने बताया कि अब बड़ी मशीन से सुरंग के अंदर ड्रिल किया जाएगा। जहां से ड्रोन कैमरा दूसरी सुरंग के अंदर भेजा जाएगा।
– मरीन कमांडो, एसडीआरएफ, पुलिस के माध्यम से रैणी तपोवन से श्रीनगर डैम तक पूरे नदी किनारे सर्च ऑपरेशन लगातार जारी है।Image result for उत्तराखंड चमोली के हादसे में अभी जीवन से जंग लड़ने के कार्य जारी 166 अभी भी लापता

Advertisement

आपदा के छठवें दिन मिले दो शव

आपदा के छठवें दिन शुक्रवार को दो शव और मिले। रैणी में ऋषि गंगा परियोजना स्थल से मलबे में एक शव, जबकि मैठाणा के पास अलकनंदा नदी किनारे से एक शव और बरामद हुआ। चमोली घाट पर 8 शवों और 3 मानव अंगों का 72 घंटे बाद अंतिम संस्कार किया गया।Image result for उत्तराखंड चमोली के हादसे में अभी जीवन से जंग लड़ने के कार्य जारी 166 अभी भी लापता

लापता लोगों के बारे में उनके परिजनों को जानकारी देने के साथ भोजन व आवास व्यवस्था के लिए तपोवन में हेल्प डेस्क काउंटर एवं राहत शिविर जारी है।रैणी क्षेत्र में मलबे में लापता लोगों की तलाश के लिए अधिकारियों की टीम बनाई गई है। तपोवन में गौरी शंकर मंदिर के निकट एप्रोच रोड बनाई जा रही है ताकि पोकलैंड मशीन को नीचे उतार कर यहां पर भी तलाश की जा सके।

Advertisement
Advertisement

Related posts

कोरोना के बाद बढा ब्लैक फंगस का खतरा, जानिए सबसे ज्यादा कौन होगा प्रभावित

News Times 7

अर्णब की गिरफ्तारी पर शाह का विपक्ष पर पलटवार

News Times 7

TikTok जल्‍द करेगा भारत में वापसी ,इस बार किस नाम होगी एंट्री ,जानिये

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़