News Times 7
टॉप न्यूज़ ब्रे़किंग न्यूज़ राजनीति

नारदा स्टिंग घोटाले में ईडी की कार्रवाई से बिफरे बंगाल विधानसभा अध्यक्ष ,नोटिस जारी कर पूछा

नारदा स्टिंग घोटाले में घिरे ममता के मंत्रियो की मुसीबत ईडी ने बढ़ा दी है, विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी ने इस केस में ईडी व सीबीआई के अधिकारियों को ही तलब कर लिया है। सूत्रों के मानें तो विधानसभा अध्यक्ष की ओर से दोनों अधिकारियों को समन भेजा गया है।West Bengal: नारदा स्टिंग मामले की जांच कर रहे CBI और ED अधिकारियों को विधानसभा अध्यक्ष ने किया तलब | West Bengal: Speaker of Assembly summons CBI and ED officers probing Narada

कार्रवाई से पहले क्यों नहीं ली इजाजत
सूत्रों की मानें तो विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी ने दोनों जांच एजेसिंयों के अधिकारियों को यह समन इसलिए भेजा है क्योंकि अधिकारियों ने निर्वाचित सदस्यों पर कार्रवाई से पहले विधानसभा अध्यक्ष से इजाजत नहीं ली थी। अधिकारियों को 22 सितंबर को हाजिर होने का आदेश दिया गया है।

चार मंत्रियों की हुई थी गिरफ्तारी
पश्चिम बंगाल में टीएमसी की सरकार बनते ही उनके मंत्रियों के खिलाफ सीबीआई ने कार्रवाई शुरू कर दी थी।West Bengal: नारदा स्टिंग मामले की जांच कर रहे CBI और ED अधिकारियों को विधानसभा अध्यक्ष ने किया तलब | West Bengal: Speaker of Assembly summons CBI and ED officers probing Narada

Advertisement

विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे 9142802566

नारदा मामले में मई में तृणमूल कांग्रेस के चार मंत्रियों फिरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी, विधायक मदन मित्रा और पूर्व मेयर सोवन चटर्जी को गिरफ्तार किया गया था। इस गिरफ्तारी का ममता बनर्जी ने भी कड़ा विरोध जताया था।

ईडी के सामने पेश नहीं हुए मोलॉय घटक 
उधर, पश्चिम बंगाल के चर्चित कोयला घोटाले में ममता सरकार में कानून मंत्री मोलॉय घटक ईडी के सामने पेश नहीं हुए। कोयला घोटाले में ईडी की ओर से मोलॉय घटक को सोमवार को समन भेजा गया था। उन्हें मंगलवार को पेश होने के लिए कहा गया था। सूत्रों के मुताबिक, मेालॉय घटक का कहना है कि इतने कम समय में ईडी के सामने पेश नहीं हुआ जा सकता। उन्होंने अपील की है कि सुनवाई वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से ही की जाए।नारदा प्रकरण में बंगाल सरकार के दो मंत्रियों को स्पेशल कोर्ट ने किया तलब - Law Trend

क्या है नारदा घोटाला
साल 2016 में बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले नारदा स्टिंग टेप का खुलासा किया गया था। ऐसा दावा किया गया था कि ये टेप साल 2014 में रिकॉर्ड किए गए थे। इसमें टीएमसी के मंत्री, सांसद और विधायक और कोलकाता के मेयर को कथित रूप से एक काल्पनिक कंपनी के प्रतिनिधियों से रकम लेते दिखाया गया था। यह स्टिंग ऑपरेशन नारदा न्यूज पोर्टल के सीईओ मैथ्यू सैमुअल ने किया था। साल 2017 में कलकत्ता हाईकोर्ट ने इन टेप की जांच का आदेश सीबीआई को दिया था।नारदा केस: ममता सरकार के मंत्री समेत 4 को CBI ने किया गिरफ्तार

Advertisement
निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए बिहार ,UP, MP के हर जिले से रिपोर्टर आमंत्रित हैं!
बायोडाटा वाट्सऐप करें –  9142802566 ,   1Newstimes7@gmail.com

 

Advertisement

Related posts

जारी है कोरोना का कहर 24 घंटे में मिले 43,509 नए मरीज, 640 की गई जान 38525 ने दी संक्रमण को मात

News Times 7

शिवसेना- राहुल का अपमान लोकतंत्र के ‘गैंगरेप’ होने जैसे लक्षण

News Times 7

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी का जनता दल युनाइटेड में विलय,नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा को JDU राष्ट्रीय संसदीय बोर्ड का अध्यक्ष बनाए जाने घोषणा की

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़