News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़

दिल्‍ली शराब घोटाले के मामले में ईडी द्वारा गिरफ्तार की गई तेलंगाना के पूर्व सीएम के चंद्रशेखर राव की बेटी के कविता आखिर कैसे बनी पूरे षडयंत्र का हिस्‍सा

नई दिल्‍ली. दिल्‍ली शराब घोटाले के मामले में ईडी द्वारा गिरफ्तार की गई तेलंगाना के पूर्व सीएम के. चंद्रशेखर राव की बेटी के. कविता आखिर कैसे इस पूरे षडयंत्र का हिस्‍सा बन गई। इस मामले में उनकी भूमिका क्‍या है। यह एक ऐसे सवाल है, जिनके बारे में इस वक्‍त हर कोई जानना चाहता है। सीबीआई इन इस मामले में उन्‍हें भ्रष्‍टाचार और प्रवर्तन निदेशायल ने उन्‍हें हवाला ट्रांजेक्‍शन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में आरोपी बनाया है। आइये हम इस पूरे खेल में के. कविता की भूमिका के बारे में बताते हैं

ईडी सूत्रों के मुताबिक दिल्‍ली के पूर्व डिप्‍टी सीएम मनीष सिसोदिया और अन्य AAP नेताओं के साथ साउथ ग्रुप, जिसमें सारथ रेड्डी, एम श्रीनिवासुलु रेड्डी, राघव मगुंटा और के कविता शामिल थे, जिनका प्रतिनिधित्व अरुण पिल्लई, अभिषेक बोइनपल्ली और बुची बाबू ने किया था. दिल्‍ली की साल 2021-22 की शराब नीति थोक विक्रेताओं के लिए असाधारण रूप से 12 प्रतिशत लाभ मार्जिन और खुदरा विक्रेताओं के लिए लगभग 185 प्रतिशत लाभ मार्जिन के साथ लाई गई थी. 12 प्रतिशत मार्जिन में से 6 प्रतिशत थोक विक्रेताओं से AAP के नेताओं को रिश्वत के रूप में वापस वसूल किया जाना था

साउथ ग्रुप से  मिली 100 करोड़ की रिश्‍वत!
ईडी के मुताबिक साउथ ग्रुप ने आप नेता विजय नायर को लगभग 100 करोड़ रुपये की रिश्वत एडवांस में दी. इस एडवांस घूस के बदले में विजय नायर ने साउथ ग्रुप को थोक कारोबार में हिस्सेदारी सुनिश्चित की क्योंकि दिल्ली शराब कारोबार में उनकी कोई पकड़ नहीं थी. आरोप है कि उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि उन्हें शराब पॉलिसी के अनुसार अनुमति से अधिक कई खुदरा लाइसेंस रखने की अनुमति दी गई और उन्हें अन्य अनुचित लाभ दिए गए.

Advertisement

के कविता फर्म में पार्टनर
सूत्रों के मुताबिक साउथ ग्रुप के साथ हिस्सेदारी साझा करने वाली संस्थाओं में से एक समीर महंद्रू की इंडो स्पिरिट्स है. समीर महंद्रू ने साउथ ग्रुप के अरुण पिल्लई और प्रेम राहुल मंदुरी को दी गई 65 प्रतिशत की साझेदारी के साथ इस फर्म का गठन किया था. इस फर्म में के कविता और मगुंटा श्रीनिवासुलु रेड्डी और राघव मगुंटा पार्टनर थेअरुण पिल्लई और प्रेम राहुल द्वारा किए गए नाममात्र निवेश उनके वास्तविक निवेशकों से जुड़े हुए हैं.

विजय नायर ने समीर महंद्रू से इन लोगों को साझेदारी का हिस्सा देने के लिए कहा था. यह सुनिश्चित किया गया कि पेरनोड रिकार्ड का थोक व्यवसाय इंडो स्पिरिट्स को दिया जाएगा. विजय नायर मनीष सिसोदिया की ओर से काम कर रहे थे, इसका खुलासा अरुण पिल्लई ने अपने बयान में भी किया है. वो इंडोस्पिरिट्स में के कविता का प्रतिनिधि था. 2 फरवरी, 2023 को बुचीबाबू ने कहा कि इस सौदे में हवाला चैनलों के माध्यम से भुगतान की गई कुल राशि लगभग 100 करोड़ रुपये थी.

ईडी सूत्रों का कहना है कि के. कविता ने 2021 और 2022 में कम से कम दस फोन का इस्तेमाल किया. संदेह है कि यह डिजिटल सबूतों को नष्ट करने और जांच को पटरी से उतारने के लिए किया गया था. ईडी के मुताबिक वह घोटाले में सक्रिय भागीदार थी और उसने अपने सहयोगियों अरुण पिल्लई, बाबू और अन्य को रिश्वत देकर व्यापार करने के तरीके के बारे में बताया था

Advertisement
Advertisement

Related posts

ज्ञानवापी पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला ,हिंदू पक्ष को दी बड़ी राहत

News Times 7

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के 8वें व अंतिम चरण के मतदान के तहत 35 सीटों पर वोटिंग जारी,283 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला

News Times 7

देश में कोरोना के मामले 26 लाख के करीब, बिहार सहित इन 8 राज्यों में ज्यादा

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़