News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़

मणिपुर सरकार ने अगले पांच दिनों के लिए इंटरनेट सेवाओं पर फिर से लगाया प्रतिबंध, राज्य के सभी स्कूल 27 और 29 सितंबर को बंद

इम्फाल. इम्फाल घाटी में दो युवकों की हत्या के खिलाफ प्रदर्शन कर रही भीड़ पर मंगलवार को पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किए जाने के कुछ घंटे बाद मणिपुर सरकार ने अगले पांच दिनों के लिए इंटरनेट सेवाओं पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया. इम्फाल घाटी में दो युवकों की हत्या के खिलाफ प्रदर्शन कर रही भीड़ पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया, जिसमें 45 से अधिक छात्र घायल हो गए.

एक अधिसूचना में कहा गया, “मणिपुर सरकार ने राज्य के अधिकार क्षेत्र में वीपीएन के माध्यम से मोबाइल इंटरनेट डेटा सेवाओं, इंटरनेट/डेटा सेवाओं को तत्काल प्रभाव से एक अक्टूबर, 2023 की शाम 7:45 बजे तक निलंबित करने का निर्णय लिया है.” मौजूदा कानून व्यवस्था की स्थिति के कारण, राज्य सरकार ने एक अन्य अधिसूचना में घोषणा की कि सभी सरकारी और निजी स्कूल बुधवार और शुक्रवार को बंद रहेंगे. बृहस्पतिवार को पैगंबर मोहम्मद की जयंती ईद-ए-मिलाद के अवसर पर राज्य में सार्वजनिक अवकाश है.

पुलिस ने छात्रों पर किया लाठीचार्ज
इससे पहले, दो युवकों के शवों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के कुछ घंटों बाद इंफाल स्थित स्कूलों और कॉलेजों के छात्रों ने विरोध रैलियां निकालीं और हत्या में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग की. प्रदर्शनकारियों की इंफाल पूर्वी जिले के संजेनथोंग के पास पुलिस के साथ झड़प हो गई जब सुरक्षाबलों ने उन्हें यहां मुख्यमंत्री सचिवालय की ओर बढ़ने से रोक दिया. पुलिस ने आंदोलनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले और लाठीचार्ज किया.

Advertisement

45 छात्र जख्मी
चिकित्सा सुविधाओं के अधिकारियों ने कहा कि पुलिस कार्रवाई में 45 से अधिक छात्र घायल हो गए और उन्हें इंफाल पूर्व और पश्चिम जिलों के विभिन्न निजी और सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. उनमें से 31 का इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा है, 12 अन्य का दो सरकारी सुविधाओं में इलाज चल रहा है, जबकि दो अन्य को दूसरे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है

युवकों की हत्या में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग
लापता छात्रों के शवों की तस्वीरें सोमवार को सोशल मीडिया पर सामने आईं, जिसके बाद मणिपुर सरकार ने लोगों से संयम बरतने और अधिकारियों को दोनों के अपहरण और हत्या की जांच करने में सहयोग करने के लिए कहा. दोनों युवकों की पहचान फिजाम हेमजीत (20) और हिजाम लिनथोइनगांबी (17) के रूप में हुई. दोनों युवकों की हत्या में शामिल लोगों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर छात्रों ने इंफाल पश्चिम जिले के उरीपोक, ओल्ड लाम्बुलाने, सिंगजामेई में भी रैलियां निकालीं. थौबल, काकचिंग और बिष्णुपुर जिलों से छात्रों और सुरक्षाबलों के बीच इसी तरह की झड़प की सूचना मिली है.

सीबीआई को सौंपी गई जांच
मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के सचिवालय द्वारा सोमवार देर रात जारी किये गए एक बयान में राज्य सरकार ने कहा कि जांच के लिए मामला केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दिया गया है. बयान में कहा गया है, “केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के सहयोग से राज्य की पुलिस छात्रों के लापता होने की परिस्थितियों का पता लगाने और उनकी हत्या करने वाले षड्यंत्रकारियों की पहचान करने के लिए जांच कर रही है. आरोपियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान भी शुरू कर दिया है.”

Advertisement
Advertisement

Related posts

बंगाल भाजपा में बगावत की अटकलों की चर्चा तेज, राज्यपाल से मिलने गए सुवेंदु अधिकारी के साथ मात्र50 विधायक

News Times 7

उत्तराखंड चुनाव 2022 में पुष्कर धामी ही होंगे BJP का सीएम चेहरा ,केंद्रीय कमिटी का निर्णय

News Times 7

2014 में राहुल गांधी के कारण हारी कांग्रेस, उनके नेतृत्‍व में गर्त में गई पार्टी: गुलाम नबी आजाद का बयान ,जानिये क्या कहा

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़