News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़राजनीति

मात्र 10 सालों में AAP आप कैसे बड़ी राष्ट्रीय पार्टी और क्यों छिना NCP, TMC और CPI का राष्ट्रीय पार्टी का स्टेटस, जानिए डिटेल

नई दिल्ली. चुनाव आयोग (ECI) ने सोमवार को अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (AAP) को एक राष्ट्रीय पार्टी के रूप में मान्यता दी है. इसके साथ ही ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस (TMC) और शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) ने राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा खो दिया है. 2024 के लोकसभा चुनावों से पहले इसे AAP के लिए एक बड़ी उपलब्धि के रूप में माना जा रहा है. ऐसे में यह जानना काफी रोचक हो जाता है कि आखिर इन पार्टियों का यह दर्जा क्यों छिना है.

आदेशों की एक श्रृंखला में ECI ने कहा कि उसने उचित प्रक्रिया का पालन करने और दो संसदीय चुनावों और 21 राज्य विधानसभा चुनावों के लिए पर्याप्त अवसर प्रदान करने के बाद मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय दलों के रूप में TMC, CPI और NCP के नेशनल पार्टी के दर्जे को वापस ले लिया है. न्यूज 18 से बात करते हुए ECI के एक अधिकारी ने कहा कि मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय और राज्य राजनीतिक दलों के प्रदर्शन की समीक्षा करना इलेक्शन सिंबल ऑर्डर, 1968 के तहत एक सतत प्रक्रिया है और यह हर चुनाव के बाद किया जाता है.

नाम न छापने की शर्त पर अधिकारी ने आगे बताया ‘साल 2019 के बाद से तीन राष्ट्रीय और छह राज्य दलों का दर्जा वापस ले लिया गया था. इसके अलावा दो दलों को राष्ट्रीय दलों के रूप में और 14 को आयोग द्वारा राज्य दलों के रूप में जोड़ा गया. ECI ने कुल मिलाकर 16 राजनीतिक दलों की स्थिति को उन्नत किया है और 2019 से नौ राष्ट्रीय/ राज्य दलों की वर्तमान स्थिति को वापस लिया है.’

Advertisement

कोई पार्टी राष्ट्रीय पार्टी कैसे बनती है?
ऐसे कई नियम हैं जो किसी पार्टी को राज्य की पार्टी और अंततः एक राष्ट्रीय पार्टी बना सकते हैं. एक राजनीतिक दल को एक राष्ट्रीय दल के रूप में मानने के लिए सबसे आसान नियमों में से एक चार या उससे अधिक राज्यों में एक राजनीतिक दल के रूप में मान्यता प्राप्त करना है. यदि किसी पार्टी को चार से कम राज्यों में मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल के रूप में माना जाता है, तो यह एक ‘राज्य पार्टी’ है.

चार राज्यों में एक राज्य पार्टी के रूप में मान्यता प्राप्त करने के अलावा, राजनीतिक दल राष्ट्रीय दल बन सकते हैं यदि उन्हें पिछले लोकसभा चुनावों में चार सीटों के साथ-साथ पिछले विधानसभा चुनावों में किन्हीं चार राज्यों में छह प्रतिशत वोट मिले हों. या कम से कम तीन राज्यों से चुने गए सांसदों के साथ पिछले आम चुनाव में सभी लोकसभा सीटों का 2 प्रतिशत प्राप्त हो.

AAP कैसे बनी नेशनल पार्टी
AAP 2013 में दिल्ली में 2014 में पंजाब में और 2022 में गोवा में राज्य की पार्टी बन गई. गुजरात में दिसंबर 2022 में चुनाव हुए और AAP वहां भी राज्य पार्टी का दर्जा पाने में कामयाब रही. चूंकि यह चार राज्यों में राज्य की पार्टी है, इसलिए यह एक राष्ट्रीय पार्टी होने के योग्य है. दिसंबर 2022 में गुजरात के लिए विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के तुरंत बाद AAP ने खुद को एक राष्ट्रीय पार्टी घोषित कर दिया. यह दिल्ली और पंजाब में सत्तारूढ़ पार्टी है और 2022 के गोवा विधानसभा चुनावों में कुल मतों के 6.8 प्रतिशत के साथ दो सीटों पर जीत हासिल की. इसके साथ ही गुजरात चुनाव में पार्टी ने पांच सीटों पर जीत हासिल की और 3 प्रतिशत वोट शेयर हासिल किया.

Advertisement

TMC, NCP और CPI के साथ क्या हुआ
TMC ने अपना राष्ट्रीय दर्जा खो दिया क्योंकि नए आदेश के अनुसार मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश में अब उसे राज्य पार्टी का दर्जा प्राप्त नहीं है. अब, यह पश्चिम बंगाल में एक राज्य की पार्टी है, जहां यह 2011 से सत्ता में है. इसके साथ त्रिपुरा में भी यह राज्य की पार्टी है. इसके अलावा ECI के सोमवार को जारी आदेश के मुताबिक मेघालय में भी इसे राज्य की पार्टी बना दिया है. पश्चिम बंगाल, मणिपुर, त्रिपुरा और अरुणाचल प्रदेश में राज्य पार्टी घोषित होने के बाद ममता बनर्जी की पार्टी को 2016 में पार्टी का दर्जा मिला था.

CPI भारत में सबसे पुरानी कम्युनिस्ट पार्टियों में से एक और 1989 से एक राष्ट्रीय पार्टी है. ECI के आदेश के अनुसार ओडिशा और पश्चिम बंगाल में पार्टी ने अपना राज्य पार्टी का दर्जा खो दिया है. और अब यह सिर्फ केरल, मणिपुर और तमिलनाडु में एक राज्य की पार्टी है. चूंकि यह चार राज्यों में एक राज्य की पार्टी नहीं है, इसलिए CPI भी अब देश में एक राष्ट्रीय पार्टी नहीं है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

इकोनॉमी में अब 9% की गिरावट का अनुमान

News Times 7

आगामी उत्तर प्रदेश चुनाव पर नजर ,दलित समीकरण साधने में जुटे अखिलेश ,प्रमोशन में आरक्षण पर यूटर्न

News Times 7

आज से 50 रुपये के मिलेंगे प्लेटफॉर्म टिकट, इन स्टेशनों पर लागू होगी नई दर

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़