News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़

नहीं होना कोई कंस्ट्रक्शन, तोड़फोड़,जब तक पेंडिंग अर्जियों पर फैसला न सुना दिया जाए

केंद्र सरकार की ओर से पुराने संसद भवन के तोड़फोड़ और नए संसद भवन के निर्माण के कार्यों की शुरुआत नहीं होने के भरोसे पर सुप्रीम कोर्ट ने नए संसद भवन के भूमि पूजन की इजाजत दी है क्योंकि सेंट्रल विस्ता प्रोजेक्ट पर तरीके के तरीके पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई है!  नए संसद भवन के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तरीके पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई है। इस मामले में दायर याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा कि सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत कोई कंस्ट्रक्शन, तोड़फोड़ या पेड़ काटने का काम तब तक नहीं होना चाहिए, जब तक कि पेंडिंग अर्जियों पर आखिरी फैसला न सुना दिया जाए। कोर्ट ने केंद्र से सिर्फ 5 मिनट में जवाब देने को कहा।Supreme Court allows foundation ceremony for Central Vista project

इस पर सरकार की तरफ से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट को भरोसा दिया कि कंस्ट्रक्शन या तोड़-फोड़ नहीं की जाएगी। इसके बाद कोर्ट ने भूमि पूजन की इजाजत दे दी।

पिटीशनर्स के 3 दावे

Advertisement
  • प्रोजेक्ट के लिए पर्यावरण मंजूरी गलत तरीके से दी गई।
  • कंसल्टेंट चुनने में भेदभाव किया गया।
  • जमीन के इस्तेमाल में बदलाव की मंजूरी गलत तरीके से दी गई।

सेंट्रल विस्टा का भूमि पूजन 10 दिसंबर को मोदी करेंगे
लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने शनिवार को ही यह जानकारी दी थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 10 दिसंबर को दोपहर 1 बजे दिल्ली में संसद भवन की नई बिल्डिंग का भूमि पूजन करेंगे। बिड़ला ने कहा था कि 2022 में देश की आजादी के 75 साल पूरे होने पर हम नए संसद भवन में दोनों सदनों के सेशन की शुरुआत करेंगे। उन्होंने बताया कि नए भवन में लोकसभा सांसदों के लिए लगभग 888 और राज्यसभा सांसदों के लिए 326 से ज्यादा सीटें होंगी। पार्लियामेंट हॉल में 1,224 सदस्य एक साथ बैठ सकेंगे।Central Vista project: Underground transit to ferry 20k people in peak  hours - india news - Hindustan Times

सेंट्रल विस्टा का मास्टर प्लान

  • सरकार ने राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट के बीच नई इमारतें बनाने के लिए सेंट्रल विस्टा का मास्टर प्लान तैयार किया है।
  • इसी इलाके में सेंट्रल सेक्रेटरिएट के लिए 10 बिल्डिंग बनाई जाएंगी। राष्ट्रपति भवन, मौजूदा संसद भवन, इंडिया गेट और राष्ट्रीय अभिलेखागार की इमारत को वैसा ही रखा जाएगा।
  • सेंट्रल विस्टा के मास्टर प्लान के मुताबिक, पुराने संसद भवन के सामने गांधीजी की प्रतिमा के पीछे नया तिकोना संसद भवन बनेगा।
  • इसमें लोकसभा और राज्यसभा के लिए एक-एक इमारत होगी, लेकिन सेंट्रल हॉल नहीं बनेगा। यह इमारत 13 एकड़ जमीन पर तैयार होगी।
Advertisement
Advertisement

Related posts

टोक्यो ओलंपिक का हिस्सा बने दिल्ली के चार खिलाड़ियों पर केजरीवाल सरकार करती है 16 लाख खर्च

News Times 7

मामा शिवराज के राज में नाबालिग लड़की से 3 लड़कों ने किया गैंगरेप

News Times 7

मध्य प्रदेश में नड्डा की चुनावी सभा, युवायूथ कनेक्ट कार्यक्रम में बोले….

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़