News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़

नोटबंदी के 4साल पुरे बीजेपी नेता का दावा , अकेले सूरत मे 2हजार करोड़ का हुआ था घोटाला, कांग्रेस और आप ने मनाया विश्वासघात दिवस

नोटबंदी के चार साल पुरे होने पर देश मे हर जगह विपक्ष नोटबंदी और उससे गिरती अर्थव्यवस्था पर सरकार को घेरने पर लगा है जगह-जगह कार्यक्रमों के माध्यम से लोगो के ये बताया जा रहा है की असल मे नोटबंदी से अर्थव्यवस्था के हालात कितने खराब हुए , कांग्रेस, आप सहीत तमाम विपक्षी पार्टियों के नेता आज के दिन को भुनाने मे लगे है ! आठ नवंबर का दिन देश की अर्थव्यवस्था के इतिहास में एक खास दिन के तौर पर दर्ज है। यही वह दिन है जब चार बरस पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रात आठ बजे दूरदर्शन के जरिए देश को संबोधित करते हुए 500 और 1000 के नोट बंद करने का ऐलान किया। नोटबंदी की यह घोषणा उसी दिन आधी रात से लागू हो गई। इससे कुछ दिन देश में अफरातफरी का माहौल रहा और बैंकों के बाहर लंबी कतारें लगी रहीं। बाद में 500 और 2000 के नये नोट जारी किए गए।कांग्रेस के पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल  ने ट्वीट कर बताया की देश मे हर जगह से मुख्यालयों पर 8नवंबर को विश्ववासघात दिवस मनाया जाएगा

 

वही आम आदमी पार्टी के बिहार प्रदेश के उपाध्यक्ष अमीत सिंह ने मिडीया से मुखातिब होते हुए कहाँ की नोटबंदी से मोदी जी ने सिर्फ अमीरों का फायदा कराया , गरीबों को मारने का काम किया हैं, जितने भी कालेधन की पोटली भरी थी मोदी जी के खजाने वो सफेद हो गयी, यही नही प्रधानमंत्री जी सहीत उनके तमाम करीबीयों को पता था की नोटबंदी होगी, देश एक बहुत बडी़ पिडा से गुजरा है नोटबंदी ने कितनो की जान ली तो कितनो को सडक पर ला दिया ये दिन देश कभी भूल नही सकता देश के साथ किये गये धोखा को देश की जनता कभी न भूलेगी न प्रधानमंत्री जी को माफ करेगी

Advertisement

सरकार ने ऐलान किया कि उसने देश में मौजूद काले धन और नकली मुद्रा की समस्या को समाप्त करने के लिए यह कदम उठाया है। देश में इससे पहले 16 जनवरी 1978 को जनता पार्टी की गठबंधन सरकार ने भी इन्हीं कारणों से 1000, 5000 और 10,000 रुपये के नोटों का विमुद्रीकरण किया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में कालेधन को रोकने के लिए 2016 में नोटबंदी लेकर आए थे लेकिन गुजरात के सूरत में कालेधन वालों ने अपने काले धन को सफेद कर लिया, यह आरोप किसी और ने नहीं बल्कि पूर्व आयकर अधिकारी और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता पीवीएस शर्मा ने लगाए हैं. उनका दावा है कि अकेले सूरत में 2 हजार करोड़ रुपये का घोटाला हुआ था.BJP leader PVS Sarma alleges ₹ 2,000 crore scam during demonetisation

पीवीएस शर्मा ने ट्वीट के जरिए नोटबंदी के समय बैंक में करोड़ों रुपये नगद जमा कराने और मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए पैसे बनाने के आरोप कुछ स्थानीय ज्वैलर्स पर लगाए हैं. पीवीएस शर्मा ने अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूरे मामले की जांच सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से कराने की मांग भी की है. इस मामले में उन्होंने आयकर अधिकारी, बिल्डर्स, सीए और ज्वैलर्स पर आरोप लगाए हैं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

बिहार में सत्ताधारी दल के विधायकों ने हीं उठाएं सरकार पर सवाल, सरकार और पुलिस को निकम्मा बताया

News Times 7

कोरोना संक्रमण के दौरान जान गंवाने वाले शिक्षक के परिवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सौंपा 1 करोड़ का चेक

News Times 7

दिल्ली सरकार के स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप यूनिवर्सिटी में स्नातक और डिप्लोमा कार्यक्रमों में 6,000 सीटों के लिये एडमिशन शुरू

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़