News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़शिक्षा

सरकार देगी लोन, 40लाख मे सरकारी डाक्टर बनाऐगी मेडिकल कालेज

निजी अस्पतालों के चमक और बेहतरीन पैकेज ने युवाओं को मेडीकल सेक्टर की ओर शुरू से ही लुभाया है, पर हर किसी के बस की बात मेडीकल नही हो पाती, इसी बीच हरियाणा सरकार के उठाये गये कदम जो मेडीकल शिक्षा की राह को आसान बना देते हैं गौरतलब है कि हरियाणा में अब सरकारी मेडिकल कॉलेजों में 40 लाख में डॉक्टर तैयार होकर निकलेंगे। एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए 2020-21 के लिए सरकार ने अधिसूचना जारी की है। उसमें फीस का स्ट्रक्चर घोषित कर दिया है। पहले यह डॉक्टर सवा तीन से साढ़े तीन लाख में बन कर तैयार होते थे। नई नीति के तहत यह अभ्यर्थी पर निर्भर करता है कि वह सरकार के माध्यम से लोन लेना चाहता है या फिर अपने स्तर पर लोन से फीस देना चाहता है।

ऐसे में यदि अभ्यर्थी एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद अपनी इंटर्नशिप पूरी करके सरकारी नौकरी के लिए चयनित हो जाता है, तब सरकार उसके लोन की किस्तें भरेगी। जिसमें मूल और ब्याज सब शामिल होगा। लेकिन यह तब तक होगा जब तक वह सरकारी नौकरी में अपनी सेवा दे रहा है।
इसके लिए सरकार ने सात साल की शर्त रखी है। यदि अभ्यर्थी सात साल तक सरकार को सेवा देता है तो पॉलिसी के तहत अभ्यर्थी को 3 लाख 71 हजार 280 रुपये चार साल में अदा करने होंगे। यह रकम कोर्स की फीस के तहत लिए जाएंगे। जिसमें सालाना 10 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी होगी।

इतनी फीस जमा करनी होगी
         एमबीबीएस डिग्री    फीस     लोन
पहला साल      80,000     9,20,000
दूसरा साल      88,000     9,12,000
तीसरा साल     96,800     9,03,200
चौथा साल      1,06,480   8,93,520
कुल –           3,71,280   36,28,720

वर्तमान में यह है स्थिति
आम तौर पर अभी तक एक अभ्यर्थी को सालाना 53 हजार रुपये फीस देनी होती है। इसके अलावाव 15 से 20 हजार हॉस्टल की फीस होती है। बाकी मेस की फीस होती है जो कि बहुत ज्यादा नहीं होती है।

Advertisement

हालांकि सरकार ने इस पूरी पॉलिसी में सरकारी नौकरी देने की गारंटी कहीं नहीं ली है लेकिन नियमों से यह साफ है कि सरकार यह चाहती है कि निजी अस्पतालों में मोटे पैकेज लेने के बजाय चिकित्सक सरकार में रह कर कुछ दिन मरीजों की सेवा करें। अन्यथा हालात यह हैं कि डाक्टर रुकते नहीं है और निजी सेवाओं के लिए भाग जाते हैं। हरियाणा सरकार का ये कदम आज के युवाओं को लुभाने और सरकारी अस्पतालों मे सेवा दिलाने मे बेहद महत्वपूर्ण है

Advertisement

Related posts

NTPC की एक यूनिट में तकनीकी गड़बड़ी के कारण बिजली का उत्‍पादन 36 घंटे के लिए रुका

News Times 7

इंडोनेशिया के बाली मे भारतीय समुदाय के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

News Times 7

बिहार में अपराधियों का तांडव ,दिनदहाड़े ICICI बैंक से 15 लाख रुपए लूट गए

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़