News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़

बिहार के अमित कुमार की साउथ अफ्रीका के जोहान्सबर्ग की रहने वाली किम मोलेनार से नैना हुई चार, फिर हिंदू रीति रिवाज से हुई शादी

होम/न्यूज/बिहार/  WEDDING STORY: बिहारी छोरे से हुईं आखें चार, शादी रचाने जोहान्सबर्ग से बेतिया पहुंची विदेशी दुल्हन, आशीर्वाद देने के लिए उमड़ी भीड़

Wedding Story: बिहारी छोरे से हुईं आखें चार, शादी रचाने जोहान्सबर्ग से बेतिया पहुंची विदेशी दुल्हन, आशीर्वाद देने के लिए उमड़ी भीड़

Bihar Wedding Story: हिंदू रीति रिवाज के साथ बिहार के रामनगर के रहने वाले अमित ने विदेशी दुल्हनिया से शादी रचा ली. शादी समारोह में लड़का और लड़की दोनों के परिजन शामिल हुए. वहीं देसी दूल्हा और विदेशी दुल्हन की इस शादी में कई लोग और शामिल हुए और वर-वधू को आशीर्वाद दिया.

साउथ अफ्रीका के जोहान्सबर्ग की रहने वाली दुल्हनिया किम मोलेनार और बिहार के अमित कुमार की की शादी हिंदू रीति रिवाज से हुई.

साउथ अफ्रीका के जोहान्सबर्ग की रहने वाली दुल्हनिया किम मोलेनार और बिहार के अमित कुमार की की शादी हिंदू रीति रिवाज से हुई.

Advertisement

पश्चिमी चंपारण. कहते हैं कि प्यार सरहद की बेड़ियों को तोड़ देता है. ऐसा ही कुछ नजारा बीते बिहार के रामनगर में भी देखने को मिला. सात समुंदर पार से आई विदेशी युवती ने हिंदू रीति रिवाज से शादी रचाई. साउथ अफ्रीका के जोहान्सबर्ग की रहने वाली दुल्हनिया किम मोलेनार और बिहार के अमित कुमार की कहानी भी कुछ ऐसी ही है, जिनकी शादी हिंदू रीति रिवाज से हुई.

दरअसल दूल्हा अमित कुमार वर्ष 2013 में साउथ अफ्रीका गए, जहां जोहांसबर्ग में मार्केटिंग लीडर के तौर पर काम करने लगे. जानकारी के अनुसार अमित कुमार जिस कंपनी में काम करते थे उसी कंपनी में पैम मोलेनर की पुत्री किम भी काम करती थी. कुछ साल पहले किम से आंखें चार हुई. फिर दोनों ने शादी का फैसला कर लिया. किम अपनी मां के साथ साउथ अफ्रीका से रामनगर में पहुंच गई. इसके बाद अमित कुमार और किम ने हिंदू रीति रिवाज से शादी कर ली.

बताया जाता है कि रामनगर के आर्यनगर मोहल्ला निवासी पीएमवीएस कॉलेज के लेक्चरर प्रफुल्ल चंद्र ठाकुर और गृहिणी रानी ठाकुर के पुत्र अमित कुमार जोहांसबर्ग में मार्केटिंग लीडर के तौर पर काम करने लगे. इसी कंपनी में पैम मोलेनर की पुत्री किम भी काम करती थी. कुछ साल पहले वहां की मूल निवासी किम से आंखें चार हुई. दोनों ने एक दूसरे की भावनाओं का सम्मान किया. इसके बाद दोनों ने एक साथ रहने का फैसला किया.

Advertisement

आशीर्वाद देने के लिए उमड़ी भीड़

लेकिन, भारतीय सभ्यता संस्कृति में विदेशी बहू का मामला फिट नहीं बैठता रहा था. यही स्थिति किम के साथ भी थी. दोनों के घर परिवार को भी यह थोड़ा नागवार लगा. लेकिन, बाद में अमित और किम की खुशी के आगे माता-पिता को झुकना पड़ा और परिवार शादी के लिए तैयार हो गया. वहीं देसी दूल्हा और विदेशी दुल्हन की इस शादी में कई लोग और शामिल हुए और वर-वधू को आशीर्वाद दिया

Advertisement
Advertisement

Related posts

वैक्सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ पार करने वाला दुनिया का पहला देश बना भारत ,पीएम मोदी ने दी बधाई

News Times 7

दिनदहाड़े लूट गया बैंक ऑफ़ बड़ौदा ,बाइक सवार लुटेरों ने की 15 लाख रुपए की लूट

News Times 7

लद्दाख में केंद्रीय विश्वविद्यालय समेत कई परियोजनाओं को केंद्र ने दी मंजूरी

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़