News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़

प्रयागराज में तेज हुई महाकुंभ की तैयारी ,4 हजार हेक्टेयर एरिया, 30 अस्थायी पुल, 40 करोड़ श्रद्धालुओं के लिए व्यवस्था

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज में 15 महीने बाद आयोजित होने वाले महाकुंभ की तैयारियां तेज हो गई हैं. जनवरी 2025 में आयोजित होने वाले महाकुंभ में तकरीबन 40 करोड़ श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है. इसको देखते हुए 2019 के कुंभ के मुकाबले इस बार तकरीबन 25 फ़ीसदी सुविधाएं बढ़ाए जाने की तैयारी की जा रही है.

प्रयागराज मेला विकास प्राधिकरण की 15वीं बोर्ड बैठक में महाकुंभ को लेकर कई अहम प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है. कमिश्नर प्रयागराज विजय विश्वास पंत की अध्यक्षता में हुई बोर्ड बैठक में महाकुंभ मेला अधिकारी विजय किरन आनंद ने महाकुंभ मेले का क्षेत्रफल बढ़ाए जाने का प्रस्ताव रखा है. उनके मुताबिक महाकुंभ मेला इस बार 4000 हेक्टेयर क्षेत्रफल में बसाया जाएगा जबकि 2019 में 3200 हेक्टेयर में कुंभ मेला आयोजित हुआ था. इस बार मेले में गंगा नदी पर इस बार 30 पांटून पुल बनाए जाएंगे जबकि पिछली बार के मेले में 22 पांटून ब्रिज बने थे.

इसके अलावा संगम के नजदीक 25 हजार श्रद्धालुओं की क्षमता वाला गंगा पंडाल बनाया जाएगा. इस पंडाल में 10 हजार बेड की भी व्यवस्था रहेगी. हरित महाकुंभ की परिकल्पना साकार करने के लिए मेला क्षेत्र में डेढ़ लाख पेड़ लगाए जाएंगे. महाकुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को पर्यावरणीय सुरक्षा का भी संदेश दिया जाएगा. प्रभागीय वनाधिकारी की ओर से इसका प्रस्ताव बोर्ड की बैठक में दिया गया है. महाकुंभ मेले में स्वच्छता के मद्देनजर लेकर मेला क्षेत्र में तकरीबन डेढ़ लाख शौचालय बनाए जाएंगे. महाकुंभ मेले में 10 हजार से ज्यादा सफाई कर्मियों की भी तैनाती की जाएगी, 800 सफाई गैंग की भी होगी तैनाती.

Advertisement

मेले में स्वच्छता के लिए 25 हजार से ज्यादा डस्टबिन रखे जाएंगे। इसके साथ आईसीटी बेस्ड सिस्टम से सफाई व्यवस्था की मॉनिटरिंग की जाएगी। प्रयागराज मेला प्राधिकरण बोर्ड की बैठक में आए प्रस्तावों को अनुमोदन के लिए यूपी सरकार को भेजा जाएगा। चीफ सेक्रेटरी की अध्यक्षता वाली शीर्ष समिति इन प्रस्तावों पर अंतिम फैसला करेगी.

2025 का महाकुंभ 45 दोनों का होगा

महाकुंभ 13 जनवरी 2025 से शुरू होकर 26 फरवरी महाशिवरात्रि तक चलेगा. इस बार 45 दिनों का महाकुंभ होगा. 13 जनवरी को पौष पूर्णिमा के पहले स्नान पर्व के साथ महाकुंभ की शुरुआत होगी. महाकुंभ में इस बार भी तीन शाही स्नान होंगे. 14/15 जनवरी 2025 को मकर संक्रांति पर पहला शाही स्नान होगा. 29 जनवरी को मौनी अमावस्या पर दूसरा शाही स्नान होगा जबकि 3 फरवरी को बसंत पंचमी पर तीसरा और आखिरी शाही स्नान होगा. 5 फरवरी को अचला सप्तमी का स्नान पर्व होगा. जबकि 12 फरवरी को माघी पूर्णिमा के स्नान पर्व के साथ कल्पवास का समापन होगा, वहीं 26 फरवरी को महाशिवरात्रि के स्नान पर्व के साथ महाकुंभ मेले का समापन होगा. महाकुंभ में 7 प्रमुख स्नान पर्व होंगे. इस तरह से 2025 में कुल 45 दिनों तक महाकुंभ का आयोजन होगा.

Advertisement

अब तक 27000 करोड़ की योजनाओं को मिल चुकी है मंजूरी

प्रयागराज मेला प्राधिकरण की बोर्ड बैठक में महाकुंभ मेला अधिकारी विजय किरन आनंद, प्रयागराज विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अरविंद चौहान समेत संबंधित सभी विभागों के आला अधिकारी मौजूद रहे. महाकुंभ की तैयारियों को लेकर योगी सरकार की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि खुद सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिसंबर 2022 में प्रयागराज में बैठक कर महाकुंभ की तैयारी को शुरू करने का निर्देश दिया था. अब तक योगी सरकार ने 27 हजार करोड़ की योजनाओं को मंजूरी दे दी है, जिनमें कई योजनाओं पर कार्य भी शुरू हो चुके हैं. सभी निर्माण कार्य अक्टूबर 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. महाकुंभ के कार्यों की शासन स्तर से भी मॉनिटरिंग की जा रही है.

Advertisement
Advertisement

Related posts

कोलकाता मैट्रो ने बनाया इतिहास, पहली बार नदी के अंदर दौड़ी मेट्रो

News Times 7

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से प्रेरित वेब सीरीज महारानी में हुमा कुरेशी के किरदार की हो रही आलोचना जानिए पूरी खबर

News Times 7

पीएफ खाते से एडवांस निकाल सकते हैं एक लाख रुपये जानिये कैसे

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़