News Times 7
टॉप न्यूज़ ब्रे़किंग न्यूज़

57वीं बार में दसवीं पास किए हुकुमदास ,अब करेंगे 12वीं करने की तैयारी

हिम्मत और जज्बे के बदौलत राजस्थान के हुकुमदास 56 बार फेल 10वीं में फेल हुए लेकिन हर नहीं मानी और 57वीं बार आखिरकार वो पास हुए पास हुये, जालोर जिले के सरदारगढ़ के 77 वर्षीय हुकुमदास वैष्णव तो यही मानते हैं. तभी तो दो-दो विभागों में सरकारी नौकरी पूरी करने के बाद भी उन्होंने पढ़ने का जज्बा नहीं छोड़ा. दसवीं में 56 बार फेल होकर भी हुकुमदास का जज्बा पढ़ाई के प्रति कम नहीं हुआ. वे 57वीं बार में 2019 में स्टेट ओपन से दसवीं की परीक्षा पास करके ही माने. अब उन्होंने 12वीं करने के लिए मंगलवार को स्टेट ओपन से जालोर में आवेदन किया है.https://www.youtube.com/channel/UCOPAdN5hOPqRmrNhZ7v2p-A चैनल को लाइक करे फॉलो करे सब्स्क्राइब और सेयर जरूर करे

हुकुमदास वैष्णव की दसवीं पास करने की जद्दोजहद और कहानी भी काफी रोचक है. मंगलवार को हुकुमदास वैष्णव ने जालोर शहर के स्टेट ओपन के संदर्भ केन्द्र राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय शहरी में 12वीं कला वर्ग से आवेदन किया. मजे की बात यह है कि अब तो उनके पोते भी स्कूलिंग पूरी कर चुके हैं.Hukumdas Vaishnav who got failed 56 times in 10th passed 57th time will take 12th exam after retirement rjsr - जज्बा! दसवीं में 56 बार फेल हुये हुकुमदास, 57वीं दफा पास हुये,

1962 में दी पहली बार दसवीं की परीक्षा
जालोर के सरदारगढ़ गांव में 1945 में जन्मे हुकुमदास ने कक्षा 1 से 8 तक तीखी गांव से पास की थी. मोकलसर में 1962 में पहली बार दसवीं की परीक्षा दी. बाड़मेर में परीक्षा केन्द्र था. पहली परीक्षा में पूरक आए दूसरी बार परीक्षा देने पर फेल हो गए. दोस्तों ने चैलेंज दिया कि तू दसवीं पास नहीं हो सकता. इस पर हुकुमदास ने कसम खा ली कि अब दसवीं पास करके दिखाऊंगा.https://www.youtube.com/channel/UCOPAdN5hOPqRmrNhZ7v2p-A चैनल को लाइक करे फॉलो करे सब्स्क्राइब और सेयर जरूर करे

Advertisement

जिद्दी विद्यार्थीं का लंबा संघर्ष
हुकुमदास वैष्णव कहते हैं कि फेल होने से हार मत मानो. बकौल हुकुमदास मैं 56 बार फेल हो चुका हूं. 2019 में स्टेट ओपन से द्वितीय श्रेणी से 10वीं क्लास पास की. पहली बार यह परीक्षा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से 1962 में दी. पहली बार फेल होने के बाद भू-जल विभाग में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी बन गए.https://www.facebook.com/Newstimes7.Bihar/ इस पेज को लाइक करे फॉलो करे और सेयर जरूर करेHukumdas Vaishnav who got failed 56 times in 10th passed 57th time will take 12th exam after retirement rjsr - जज्बा! दसवीं में 56 बार फेल हुये हुकुमदास, 57वीं दफा पास हुये,

2005 में कोषालय विभाग से रिटायर हुये
इस पर नियमित पढ़ाई छोड़कर स्वयंपाठी के रूप में परीक्षाएं देनी शुरू कर दी. 2005 में कोषालय विभाग से चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद से रिटायर हुए. 2010 तक माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से 48 बार परीक्षा स्वयंपाठी के तौर पर दी. उसके बाद स्टेट ओपन से ट्राई किया. आखिरकार 2019 में स्टेट ओपन से द्वितीय श्रेणी से 10वीं पास की. अब 2021-22 से कक्षा 12वीं में प्रवेश लिया है.Youth Day Special story The spirit of old man of 77 years like a youth passed 10th examination in 57th time - युवा दिवस स्पेशल: 77 साल के बुजुर्ग का युवाओं वालाhttps://www.facebook.com/Newstimes7.Bihar/ इस पेज को लाइक करे फॉलो करे और सेयर जरूर करे

विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे 9142802566

निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए बिहार ,UP, MP के हर जिले से रिपोर्टर आमंत्रित हैं!
बायोडाटा वाट्सऐप करें –  9142802566 ,   1Newstimes7@gmail.com
Advertisement
Advertisement

Related posts

कोरोना के बाद जब खुला था बदरीनाथ धाम का कपाट, हुआ था ये चमत्कार…

News Times 7

गोरखपुर में फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों को कार ने रौंदा, 2 की मौत

News Times 7

मध्य प्रदेश के सेंट जोसेफ स्कूल पर 8 बच्चों के धर्मांतरण का आरोप

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़