News Times 7
अध्यात्म

84 कोस में स्वर्ग की तरह सजी अयोध्या ,जहाँ प्रभु श्रीराम का होगा आगमन

अयोध्या में दीपोत्सव की तैयारी जोरो पर है जहाँ कुल 84 कोस में रामनगरी अयोध्या सजी है, बुधवार दोपहर सरयू किनारे रामकथा पार्क में पुष्पक विमान स्वरूप हेलीकॉप्टर से प्रभु राम, सीता व लक्ष्मण उतरेंगे। वहां राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत विभिन्न मंत्री और संत-धर्माचार्य दीप सजाकर प्रभु की अगवानी करेंगे।Up News: Uttar Pradesh News In Hindi, Latest उत्तर प्रदेश समाचार – Amar  Ujala

इसके बाद वे गुरू वशिष्ठ की भूमिका में भगवान श्रीराम का राजतिलक करेंगे। सीएम रामलला के दरबार भी जाएंगे। इसके बाद सीएम, राज्यपाल सहित कई मंत्री मां सरयू की भव्य आरती भी उतारेंगे।

राम की पैड़ी के घाटों पर विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए नौ लाख दीप जलाकर साढ़े सात लाख दीप एक साथ 40 मिनट तक जलाने और पांच मिनट तक जलते रहने का नया विश्व कीर्तिमान बनाने का लक्ष्य अवध के 12 हजार युवा साधेंगे। 2017 से शुरू हुए दीपोत्सव ने हर साल नए कीर्तिमान गढ़े हैं। नए रिकॉर्ड की साक्षी बनने के लिए गिनीज बुक की टीम अयोध्या पहुंच चुकी है।साढ़े सात लाख दीपों से बनेगा नया रिकॉर्ड, 84 कोस में सजी रामनगरी - Bhaiyaji  News

Advertisement

राम की पैड़ी दीपोत्सव में आकर्षण का केंद्र होगी। राम की पैड़ी पर 337 फीड की स्क्रीन पर महर्षि बाल्मीकि रामकथा सुनाएंगे। यहां तीन लेयर की लाइटें लगाई हैं। साउंड सिस्टम 32 फीट पर लगाया गया है। घाट पर तीन अलग-अलग तरह की स्क्रीन पर महर्षि वाल्मीकि अयोध्या के घाट पर स्वयं पधारेंगे और रामकथा सुनाएंगे। मल्टीमीडिया शो में लाइट एंड साउंड शो दर्शकों और श्रद्धालुुओं को मंत्रमुग्ध कर देगा। प्रोजेक्शन मैपिंग के जरिए महर्षि वाल्मीकि की मल्टी डायमेंशनल होलोग्राफिक इमेज अयोध्या की पावन धरा पर अवतरित होगी।

इस बार सरयू पुल पर ग्रीन पटाखों की आतिशबाजी होगी। इस पर करीब एक करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री सहित अन्य अतिथि सरयू तट से आतिशबाजी निहारेंगे। इसके लिए यहां अलग से मंच बनाया गया है। करीब 20 मिनट तक आतिशबाजी होगी। अलग-अलग रंगों के पटाखों से आसमान सतरंगी हो जाएगा। सरयू पुल व घाटों के फूलों एवं विद्युत झालरों से सजाया गया है। शाम होते ही पूरा सरयू तट रोशनी में नहा उठता है।अयोध्या में अगले साल जलेंगे 7.51 लाख दीये, राम नगरी में बना विश्व रिकॉर्ड |  News Track in Hindi

दीपोत्सव का कार्यक्रम

Advertisement

2:30 बजे- भगवान श्रीराम सीता का हेलीकॉप्टर से आगमन।
3.00 बजे- रामायण चित्र प्रदर्शनी का उद्घाटन।
3:30 बजे – श्रीराम का राज्याभिषेक।
3:45 बजे- 12 हजार करोड़ की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास।
4:00 बजे -सीएम योगी आदित्यनाथ का भाषण।
5:20 बजे- सरयू आरती।
6:00 बजे -राम की पैड़ी पर दीपोत्सव की शुरुआत।
7:40 बजे -राम की पैड़ी पर आतिशबाजी और लेजर शो।
8:30 बजे – श्रीलंका के सांस्कृतिक दल द्वारा रामलीला मंचन।

दीपोत्सव समारोह को लेकर अयोध्या के सभी प्रवेश द्वारों से लोगों का प्रवेश वर्जित कर दिया गया है। मंगलवार से रूट डायवर्जन लागू हो गया। मुख्य कार्यक्रम स्थल की सुरक्षा की कमान एटीएस व अर्द्धसैनिक बलों ने संभाल ली। अयोध्या में चप्पे-चप्पे पर अर्द्धसैनिक बल, पीएसी के जवान, पुलिस व होमगार्ड तैनात हैं।

खुफिया विभाग व सादी वर्दी में पुलिस के जवान संदिग्धों पर नजर रख रहे हैं। अयोध्या प्रवेश के द्वार हनुमान गुफा, साकेत पेट्रोल पंप, रामघाट, बूथ नंबर चार, हलकारक का पुरवा, उदया चौराहा, टेढ़ी बाजार, गैस एजेंसी गोदाम के पास से बाहरी वाहनों व लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया गया। अयोध्यावासियों, ड्यूटी में लगे अधिकारी-कर्मचारी व दीप लगाने में जुटे स्वयंसेवकों को ही आने-जाने दिया जा रहा है।Ayodhya Deepotsav Diwali 2021 Ramnagari Decorated In Eighty Four Kos Today  Will Be The Arrival Of Lord Shri Ram - अयोध्या में दीपोत्सव: 84 कोस में सजी  रामनगरी, होगा प्रभु श्रीराम का

Advertisement

सुरक्षा की कमान आईजी कविंद्र प्रताप सिंह के साथ एसएसपी शैलेश पांडेय, एसपी सिटी विजयपाल सिंह व जनपद में तैनात व बाहर से आए एएसपी स्तर के अधिकारियों ने संभाल ली है। एसएसपी ने बताया कि सुरक्षा के सभी आवश्यक इंतजाम किए गए हैं। जिले के व बाहर से आए अधिकारी व कर्मचारियों को ड्यूटी पर तैनात कर दिया गया हैउत्तर प्रदेश: संवरती अयोध्या : Outlook Hindi

कोविड प्रोटोकॉल के चलते ज्यादा भीड़ न हो, इसके लिए बाहरी लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है। दीपोत्सव समारोह के मुख्य कार्यक्रम स्थल के प्रवेश के सभी द्वार पर सुरक्षाकर्मी तैनात रहे। यहां से सिर्फ दीप सजाने के कार्य में लगे स्वयंसेवक व व्यवस्था से जुड़े अधिकारी व कर्मचारियों को विश्वविद्यालय व संबंधित विभाग से जारी परिचय पत्र पर प्रवेश दिया जा रहा था !

राम की पैड़ी, सरयू घाट व रामकथा पार्क जाने के लिए इसी स्थान से गुजरना पड़ेगा। यहां पुराने पुल, बाईपास, शहर में प्रवेश के और सरयू घाट पर जाने वाले मार्ग पर बैरियर लगे हैं। तैनात सुरक्षाकर्मी व्यवस्था में लगे लोगों को छोड़कर किसी को आने-जाने नहीं दे रहे थे।अयोध्या को वैश्विक पहचान दिलाने के साथ-साथ समस्त आधुनिक सुविधाओं से  सुसज्जित कर इसका सर्वांगीण विकास हमारी प्राथमिकता: मुख्यमंत्री YOGI ...

Advertisement

गोंडा जनपद से जुड़ा पुराने सरयू पुल के दोनों तरफ के अलावा बीच में एक स्थान पर लगे बैरियर से किसी को आने नहीं दिया जा रहा है। गोंडा जनपद में भी अयोध्या आने वाले मार्ग लकड़मंडी मोड़ पर गोंडा पुलिस द्वारा बैरियर लगाया है। पुराने पुल से नयाघाट तक जाने वाले करीब दो सौ मीटर मार्ग पर बीच में लोहे की जाली से डिवाइडर बनाया गया है। यह रास्ता मुख्य कार्यक्रम के दौरान सिर्फ वीआईपी इस्तेमाल करेंगे।अयोध्या धाम की 84 कोसी परिक्रमा 19 अप्रैल से, तीन जत्थे होंगे रवाना -  ayodhya dham 84 kosi parikrama to start from 19 april | Navbharat Times

विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे 9142802566

निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए बिहार ,UP, MP के हर जिले से रिपोर्टर आमंत्रित हैं!
बायोडाटा वाट्सऐप करें –  9142802566 ,   1Newstimes7@gmail.com

 

 

Advertisement

 

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

जगन्नाथपुरी रथ यात्रा पर प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्पति गोविन्द ने दिए देशवाशियों को शुभकामनायें जानिए विशेष

News Times 7

प्रबोधिनी एकादशी तुलसी विवाह के शुभ मुहूर्त पूजा की विधि और महत्व के बारे में आज जाने

News Times 7

भारत के महान दार्शनिक और आध्यात्मिक गुरु स्वामी विवेकानंद की जयंती पर आज कुछ विशेष जानकारी

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़