News Times 7
टॉप न्यूज़ बड़ी-खबर राजनीति

सीटें कम आने के बावजूद भी अहम विभाग JDU के हाथ में

बिहार चुनाव में इस बार जेडीयू की सीटें भले ही घट गई हों और बीजेपी एक के बजाय अपने दो नेताओं को डिप्पी सीएम बनाया हो, लेकिन नीतीश कुमार का सरकार में रुतबा पहले की तरह ही रहने वाला है. मंगलवार को मंत्रियों के विभागों का बंटवारा किया गया है, जो कि पिछली सरकार यानी पहले की तरह ही बीजेपी और जेडीयू के बीच बांटे गए हैं. इस तरह से सारे अहम और भारी भरकम मंत्रालय जेडीयू ने एक बार फिर बरकरार रखे हैं.

नीतीश कैबिनेट की मंगलवार को हुई बैठक में नई सरकार के लिए मंत्रियों के विभाग भी तय किए गए हैं. मंत्रियों के विभागों के बंटवारे में तमाम विभाग जो जेडीयू के पास थे उसे जेडीयू ने अपने पास ही रखा है और बीजेपी के पास जो विभाग पहले थे, वही मिले हैं. पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के पास जो मंत्रालय थे, उन्हीं विभागों को अब मौजूदा उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद को दिए गए हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पास गृह मंत्रालय, सामान्य प्रशासन, विजिलेंस समेत वह विभाग रखें हैं, जिन्हें अन्य मंत्रियों को आवंटित नहीं किया गया है. इसमें सबसे महत्वपूर्ण गृह और सामान्य प्रशासन हैं. हालांकि, माना जा रहा था कि गृह विभाग पर बीजेपी अपनी दावेदारी कर सकती है, पर नीतीश ने उसे अपने पास रखा है. इस तरह से नीतीश कुमार ने अपने राजनीतिक रुतबे को पहले की तरह ही बरकरार रखने की कोशिश की है जबकि लग रहा था कि इस बार उनका सियासी कद कम हो सकता है.

Advertisement

जेडीयू कोटे से मंत्री बने विजय चौधरी को ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, जल संसाधन, सूचना और प्रसारण और संसदीय कार्य विभाग का जिम्मा मिला है. पिछली सरकार में विजय चौधरी विधानसभा अध्यक्ष थे और उन्हें जिन मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है वो सभी विभाग जेडीयू खेमे के मंत्रियों के पास थे. पिछली सरकार में ग्रामीण विकास मंत्रालय श्रवण कुमार के पास था जबकि सूचना विभाग अशोक चौधरी देख रहे थे.

जेडीयू कोटे से एक बार फिर नीतीश सरकार में मंत्री बने बिजेंद्र यादव को पिछली सरकार की तरह ऊर्जा मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है. इसके अलावा उन्हें निषेध, योजना और खाद्य एवं उपभोक्ता मामले का मंत्रालय का जिम्मा भी सौंपा गया है. जेडीयू खेम से मंत्री बनने वाले अशोक चौधरी को पहले की तरह ही भवन निर्माण मंत्रालय दिया गया है, लेकिन साथ ही अल्पसंख्यक कल्याण, साइंस टेक्नोलॉजी और सोशल वेल्फेयर मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

जेडीयू से पहली बार मंत्री बने मेवालाल चौधरी को शिक्षा मंत्रालय दिया गया है जबकि पिछली सरकार में यह विभाग जेडीयू के कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा के पास था, लेकिन इस बार वो चुनाव हार गए हैं. ऐसे में मेवालाल चौधरी को जिम्मेदारी सौंपी गई है. वहीं, शीला कुमार को परिवहन मंत्रालय का जिम्मा दिया गया है जो कि पिछली सरकार में संतोष कुमार निराला के पास था. इस बार चुनाव में संतोष निराला हार गए हैं.

Advertisement

वहीं, नीतीश सरकार में डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद को वित्त, कॉमर्शियल टैक्स, पर्यावरण और वन, आपदा प्रबंधन, शहरी विकास के साथ सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है. नीतीश के सरकार में इन विभागों की जिम्मेदारी सुशील मोदी के पास थी.

वहीं, बीजेपी कोटे से दूसरी डिप्टी सीएम रेणु देवी को पंचायती राज, पिछड़ी जाति का उत्थान और ईबीसी कल्याण के साथ उद्योग मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है. पिछली नीतीश सरकार में पंचायती विभाग बीजेपी के कपिल देव कामत और पिछड़ी जाति का उत्थान ईबीसी कल्याण विभाग बीजेपी के विनोद सिंह संभाल रहे थे.

बीजेपी के पुराने चेहरों में मंत्री बनने वालों में मंगल पांडेय एकलौते नेता हैं, जिन्हें एक बार फिर अपने पुराने विभाग स्वास्थ्य मंत्रालय और सड़क एंव परिवहन मंत्रालय की जिम्मेदारी मिली है. नीतीश की पिछली सरकार में भी स्वास्थ्य विभागों की जिम्मेदारी वो संभाल रहे थे जबकि सड़क मंत्रालय नंद किशोर यादव के पास था. हालांकि, इस बार उन्हें कला एवं संस्कृति मंत्रालय की अतिरिक्त जिम्मा मिला है.

Advertisement

वहीं, पहली बार मंत्री बने बीजेपी के अमरेंद्र सिंह को कृषि, कोऑपरेटिव और गन्ना विभाग का प्रभार मिला है. पिछली सरकार में इन विभागों की जिम्मेदारी राणा रणधीर सिंह और प्रेम सिंह संभाल रहे थे. रामप्रीत पासवान को PHED यानी पब्लिक हेल्थ एंड इंजीनियरिंग विभाग दी गई, जो कि पिछली सरकार में विनोद कुमार झा के पास था. जीवेश कुमार को पर्यटन, श्रम और खनन मंत्रालय का जिम्मा मिला जबकि पिछली सरकार में श्रम विभाग बीजेपी के विजय कुमार सिन्हा और पर्यटन कृष्ण कुमार ऋषि के पास था.

Advertisement

Related posts

फिर बदलेंगे रेलवे स्टेशन के नाम ,भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर रखेंगी प्रस्ताव, जानिये क्या होगा नया नाम

News Times 7

बिहार में विधायकों को प्रखंड से लेकर मुख्यालय तक मिलेगा दफ्तर सरकार ने की घोषणा

News Times 7

कंगना रनोट के मुंबई ऑफ़िस पर BMC का छापा

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़