News Times 7
Otherटॉप न्यूज़ब्रे़किंग न्यूज़

यूपी से सटे और राजपूत बहुल्य सिटो पर योगी की नजर, बिगाड सकते है महागठबंधन की गणित

बीजेपी में मोदी-शाह के बाद तीसरे सबसे कद्दावर नेता के तौर पर योगी अपना सियासी कद बनाने में सफल रहे हैं. यही वजह है कि पार्टी ने सीएम योगी की उत्तर प्रदेश से सटे हुए बिहार के इलाकों वाली सीटों पर ज्यादा से ज्यादा रैलियां कराने की रणनीति बनाई है

 

  • सीएम योगी की यूपी से सटे हुए इलाकों में रैली
  • बिहार की राजपूत सीटों पर बीजेपी की नजर
  • योगी की छवि का बीजेपी उठाना चाहती फायदा
  • बिहार विधानसभा चुनाव की सियासी रणभूमि में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी मंगलवार को एंट्री मार दी. बीजेपी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के बाद योगी तीसरे सबसे कद्दावर नेता बनकर उभरे हैं. यही वजह है कि पार्टी सीएम योगी की उत्तर प्रदेश से सटे हुए बिहार के इलाकों वाली सीटों पर ज्यादा से ज्यादा रैलियां करा रही है. योगी को लेकर बीजेपी का फोकस खासकर उन सीटों पर ज्यादा है, जहां पर राजपूत मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं.

    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहली रैली कैमूर जिले की रामगढ़ सीट पर हुई. यहां पर आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह छह बार विधायक रह चुके हैं. इस बार आरजेडी से जगदानंद सिंह के बेटे सुधाकर सिंह मैदान में हैं, जिनका मुकाबला बीजेपी के मौजूदा विधायक अशोक सिंह से है. बसपा की ओर से यहां से अंबिका सिंह प्रत्याशी हैं.

    Advertisement

    रामगढ़ के बाद योगी अरवल विधानसभा सीट पर बीजेपी के दीपक शर्मा के पक्ष में प्रचार करेंगे. इस सीट पर दीपक शर्मा का मुकाबला माले के महानंदा प्रसाद और आरएलएसपी के सुभाष चंद यादव से है. 2015 में आरजेडी के रविंद्र सिंह ने यहां से जीत दर्ज की थी, लेकिन इस बार यह सीट माले के खाते में चली गई है. अरवल की पहचान कभी नक्सलवाद, उग्रवाद और नरसंहार की खबरों से ज्यादा होती थी. सोन नदी के किनारे बसे इस इलाके में यूपी का काफी राजनीतिक प्रभाव है. यही वजह है बीजेपी ने सीएम योगी की रैली के लिए माहौल बनाने की कवायद की है.

Advertisement

Related posts

आजम खां ने किया एलान रामपुर लोकसभा से आसिम राजा होंगे सपा प्रत्याशी

News Times 7

केजरीवाल सरकार राजधानी के अलग-अलग इलाकों के ल‍िए 11 नए अस्‍पतालों का करा रही है न‍िर्माण ,10 हजार बेड्स की होगी व्‍यवस्‍था

News Times 7

रेलवे ने तय किया अफसरों के चाय-नाश्ते के लिए 500 से 5000 रुपये महीना, सभी छूट खत्म

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़