News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़राजनीति

अमित शाह ने रखी Nano लिक्विड डीएपी कारखाने की नींव ,नैनो यूरिया के बाद अब Nano लिक्विड डीएपी बनाएगा IFFCO

गांधीधाम. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने गुजरात के गांधीधाम में देश भर के किसानों को बड़ी सौगात देते हुए इफको (IFFCO) के लिक्विड नैनो डीएपी प्लांट (Nano DAP Plant) की नींव रखी है. इस प्लांट की खासियत यह होगी कि 50 किलो फर्टिलाइजर की जगह किसान केवल आधा लीटर तरल फर्टिलाइजर अपने खेतों में इस्तेमाल करेंगे. यह प्लांट 70 एकड़ के एरिया में बनेगा. महज एक साल में इसको पूरा करने का लक्ष्य है. सभी आधुनिक सुविधाओं से लैस इफको के इस प्लांट के बनने के बाद आर्गेनिक फार्मिंग को बढ़ावा मिलेगा. केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने कहा कि इस नैनो फर्टिलाइजर प्लांट से इफको उचित मात्रा और उचित दाम में भारत के किसानों को खाद की सप्लाई करेगा. यह दुनिया का पहला लिक्विड नैनो डीएपी बनाने वाला प्लांट है.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि जब सहकारिता मंत्रालय बना तो सहकारिता से समृद्धि का मंत्र पीएम मोदी ने हमें दिया. लिक्विड नैनो डीएपी से हमारी धरती माता संरक्षित होगी, उसमें जहर नहीं जाएगा. किसान धरती की उर्वरता कम होने का चैलेंज फेस कर रहे हैं, उससे मुक्ति मिलेगी. इस खाद से पानी भी दूषित नहीं होगा, सरकार पर सब्सिडी का बोझ कम होगा, सरकार आत्मनिर्भर बनने दिशा में आगे बढ़ेगी. अमित शाह ने कहा कि भारत को दूसरी हरित क्रांति की जरूरत है. प्राकृतिक खेती की हरित क्रांति करनी है. जो आर्गेनिक प्रोडक्ट भारत का किसान उत्पादन करेगा, वो दुनिया भर से संपत्ति भारत में लाएगा.

दलहन-तिलहन में देश को आत्मनिर्भर बनाना है
अमित शाह ने कहा कि दलहन और तिलहन के मामले में भी देश को आत्मनिर्भर बनाना है. प्राकृतिक खेती से उपजे उत्पादों का उचित मूल्य किसान को देना सबसे जरूरी है. अच्छे ब्रांड के साथ विश्व के बाजारों को किसानों के प्रोडक्ट भेजे जाएंगे. छोटे से छोटे किसान को अपने प्रोडक्ट को दुनिया के बाजार में उतारने का मौका मिलेगा. सहकारिता के जरिये ये नई हरित क्रांति की अहम कड़ी है. अमित शाह ने कहा कि 350 करोड़ रुपये की लागत से 70 एकड़ के एरिया में ये प्लांट बनेगा. तरल नैनो डीएपी संयत्र में इफको अपना पैसा लगाएगा.

Advertisement

हर खाद में देश आत्मनिर्भर बनेगा
अमित शाह ने कहा कि हर तरह की खाद में देश आत्मनिर्भर बनेगा. एक साल के भीतर ही ये तरल डीएपी का कारखाना डीएपी का उत्पादन करेगा. उन्होंने कहा कि इस प्लांट को बहुत ही प्रोफेशनल तरीके से डिजाइन किया गया है. यह प्लांट जीरो लिक्विड डिस्चार्ज पर बनाया गया है. उन्होंने कहा कि कोऑपरेटिव सेक्टर भारत के किसानो के लिए मजबूत पिलर है और आज ये पिलर ज्यादा मजबूत होगा. मोदी सरकार ने पैक्स को मल्टी-डायमेंशनल बनाया है.

Advertisement

Related posts

CM योगी का RJD पर रोजगार के मुद्दे पर कड़ा प्रहार

News Times 7

33 साल बाद बना 1979 की फिल्म का रीमेक, पैसा लगाकर मालामाल हुए थे अजय देवगन

News Times 7

राहुल गांधी को मोदी सरनेम केस मे पटना हाईकोर्ट से मिली राहत

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़