News Times 7
अध्यात्म

आज दिवाली के दिन शाम में कैसे करे दीपावली में मां लक्ष्मी की पूजा जानिए मुहूर्त, मंत्र और समय

आज 4 अक्टूबर को दीपावली का पर्व मनाया जा रहा है ,हर वर्ष कार्तिक माह की अमावस्या तिथि पर दिवाली का पर्व बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। दिवाली की शाम लक्ष्मी गणेश पूजन का विशेष महत्व होता है। आज शाम 06 बजकर 10 मिनट से लेकर रात 08 बजकर 06  मिनट तक लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त है।

अब से बस थोड़ी ही देर बार ही दिवाली लक्ष्मी पूजन के लिए शुभ मुहूर्त आरंभ हो जाएगा।

दिवाली पर लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए प्रदोष काल का शुभ मुहूर्त सबसे शुभ माना जाता है। इस मुहूर्त में लक्ष्मी पूजन करने पर साधक को सुख-समृद्धि और वैभव समेत कई तरह के ऐशोआराम से जीवन बीताने के लिए मां लक्ष्मी अपना आशीर्वाद प्रदान करते हैं। आज दिवाली पर लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 06 बजकर 10  मिनट से आरंभ हो जाएगा जो रात के 08 बजकर 06  मिनट तक रहेगा। लक्ष्मी पूजन के इस मुहूर्त में सभी गृहस्थ लोग देवी लक्ष्मी की पूजा-आराधना कर सकते हैं।Diwali Laxmi Ganesh Kuber Pujan Vidhi And Mantra : Diwali Laxmi Ganesh  Kuber Pujan Vidhi And Mantra In Detail | Diwali Puja Mantra Vidhi द‍िवाली  पर ऐसे करें लक्ष्‍मी-गणेश, कुबेर का पूजन,

Advertisement

दिवाली पर प्रदोष काल में माता लक्ष्मी की विशेष पूजा-आराधना होती है। माता लक्ष्मी के साथ भगवान गणेश, देवी सरस्वती और कुबेर देवता की भी होती है। लक्ष्मी पूजा से पहले सभी तरह की तैयारियां कर ली जाती है। घर के मुख्य द्वार को रंगोली और तोरण द्वार बना कर सजाया जाता है। फिर मां लक्ष्मी के पूजन में प्रयोग होने वाली सभी पूजा सामग्रियों का एकत्रित कर शुभ मुहूर्त में लक्ष्मी गणेश की पूजा आरंभ कर दी जाती है।ध्यान देने की बात है कि दिवाली पर लक्ष्मी पूजा हमेशा स्थिर लग्न और प्रदोष काल में करने से मां लक्ष्मी बहुत ही प्रसन्न होती हैं। पूजा के अंत में माता लक्ष्मी की आरती होती है। आइए जानते हैं कि आज शाम के समय दिवाली लक्ष्मी पूजन का क्या समय है और लक्ष्मी आरती का आरती…

दिवाली पूजा शुभ मुहूर्त

लक्ष्मी पूजा शुभ मुहूर्त-               06:10 PM से लेकर 08:06 PM तक
लक्ष्मी पूजा प्रदोष काल मुहूर्त –   05:35 PM से 08: 10 PM तक 

Advertisement

लक्ष्मी पूजा निशिता काल मुहूर्त – 11:38 PM से 12:30 AM तक

लक्ष्मी पूजा के लिए शुभ चौघड़िया मुहूर्त

प्रातः मुहूर्त (शुभ) – 06:35 AM से 07:58 AM
प्रातः मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) – 10:42 AM से 02:49 PM
अपराह्न मुहूर्त (शुभ) – 04:11 PM से 05:34 PM
शाम का मुहूर्त (अमृत, चर) – 05:34 PM से 08:49 PM
रात्रि

Advertisement

मुहूर्त (लाभ) – 12:05 AM से 01:43 AM

इस दिवाली ऐसे करेंगे पूजन तो पूरे साल आप पर बनी रहेगी माँ लक्ष्मी की  कृपा।जानें पूजा की विधि और मुहूर्त। – TrendingOnTea
माता लक्ष्मी की आरती

ऊं जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता।।
तुमको निशदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।

Advertisement

उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही जग-माता।
मैया तुम ही जग-माता।।
सूर्य-चंद्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।

दुर्गा रूप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता।
मैया सुख संपत्ति दाता।
जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।

तुम पाताल-निवासिनि,तुम ही शुभदाता।
मैया तुम ही शुभदाता।
कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी,भवनिधि की त्राता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।

Advertisement

जिस घर में तुम रहतीं, सब सद्गुण आता।
मैया सब सद्गुण आता।
सब संभव हो जाता, मन नहीं घबराता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।

तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता।
मैया वस्त्र न कोई पाता।
खान-पान का वैभव,सब तुमसे आता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।

शुभ-गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि-जाता।
मैया क्षीरोदधि-जाता।
रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।

Advertisement

महालक्ष्मी जी की आरती, जो कोई नर गाता।
मैया जो कोई नर गाता।
उर आनन्द समाता, पाप उतर जाता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।

ऊं  जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता।
तुमको निशदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता।
ऊं जय लक्ष्मी माता।।Happy Diwali 2021: Diwali In 2021 Know The Date And Timing Of Lakshmi Puja  - Happy Diwali 2021 : आज है दिवाली, जानिए पूजा सामग्री, मुहूर्त और पूजन  विधि | Religious News In Hindi

– माता लक्ष्मी को भोग में धनिया का बीज चढ़ाया जाता है। धनिया में ऐसी सुगंध होती है जिससे धन आकर्षित होता है। इस वजह से घर पर धन दौलत के प्रवाह को बढ़ाने के लिए दिवाली के दिन पूजा में धनिया अवश्य रखें।

Advertisement

– दिवाली पर देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शहद में केसर मिलाकर भोग लगाना चाहिए। मान्यता है इस उपाय से भी देवी प्रसन्न होती हैं।

-हिंदू धर्म में पूजा में गन्ने का विशेष महत्व होता है। गन्ना देवी लक्ष्मी का प्रिय भोग है इसलिए धन संपत्ति में बढ़ोत्तरी के लिए दिवाली की रात महालक्ष्मी की पूजा में गन्ने को अवश्य शामिल करें।

– दिवाली पर लक्ष्मी-गणेश पूजन में नौ गोमती चक्र को शामिल करने के बाद उसे साल भर के लिए अपनी तिजोरी में अवश्य रखें।

Advertisement

– लक्ष्मी पूजन में नौ गोमती चक्र के अलावा दो हल्दी की गांठ को भी जरूर रखें। इस हल्दी की गांठ को देवी लक्ष्मी को समर्पित करने के बाद उसे भी तिजोरी में साल भर रख लें।

आज कार्तिक अमावस्या तिथि है और इस दिन देश में दीपोत्सव का त्योहार दिवाली मनाई जा रही है। इस बार दिवाली पर ग्रहों का दुर्लभ संयोग बना है। ज्योतिष गणना के अनुसार आज सूर्य, मंगल, बुध और चंद्रमा सभी ग्रह तुला राशि में ही विचरण करेंगे। एक साथ चार ग्रहों का का एक ही राशि में होना दिवाली पर शुभ संकेत है।दिवाली पर कितने बजे है लक्ष्मी पूजा का उत्तम समय, जानिए पूजा विधि, आरती और  मंत्र - Jansatta

विज्ञापन के लिए सम्पर्क करे 9142802566

निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए बिहार ,UP, MP के हर जिले से रिपोर्टर आमंत्रित हैं!
बायोडाटा वाट्सऐप करें –  9142802566 ,   1Newstimes7@gmail.com

 

Advertisement

 

Advertisement

Related posts

धनतेरस क्यों मनाते हैं, पढ़ें पवित्र और पौराणिक कथा…

News Times 7

खत्म हो गया भगवान श्री राम का बनवास,और खत्म हो गई उससे जुडी राजनीति

News Times 7

Elderly woman gets separated from family during Taj Mahal visit. How Agra Police helps her

Admin

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़