News Times 7
अध्यात्म ब्रे़किंग न्यूज़

चार धाम यात्रा पर गतिरोध जारी ,उत्तराखंड हाई कोर्ट ने 18 अगस्त तक लगाई रोक, जानिए क्यों

चार धाम यात्रा को लेकर अगर आप सोच रहे है तो ये जान लें की उत्तराखंड हाई कोर्ट ने 18 अगस्त तक चार धाम यात्रा पर रोक लगा दी है दरअसल पर्यटन स्थलों पर आदर्श गाइडलाइन का पालन न होने पर उत्तराखंड सरकार को डांट लगाते हुए उच्च न्यायालय ने चार धाम यात्रा पर अब 18 अगस्त तक के लिए रोक लगा दी. कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए यह फैसला दिया गया है जबकि पिछले एक महीने से लगातार यह यात्रा सुर्खियों में इसलिए बनी हुई है क्योंकि उत्तराखंड सरकार इस यात्रा के आयोजन के पक्ष में रही और हाई कोर्ट के निर्देश को चुनौती देने के लिए सुप्रीम कोर्ट तक गई. दूसरी तरफ, चार धाम के ऑनलाइन दर्शनों को लेकर भी कोर्ट और सरकार आमने सामने हैं.

High Court bans Chardham Yatra till 28 live streaming why not asked  uttarakhand government - केदारनाथ, बदरीनाथ सहित चारधाम यात्रा पर हाईकोर्ट  का सरकार से सवाल, लाइव स्ट्रीमिंग ...

उत्तराखंड सरकार ने 28 जून को सुप्रीम कोर्ट में हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए चाहा था कि चार धाम यात्रा को मंज़ूरी दी जाए ताकि सरकार 1 जुलाई से इस यात्रा को उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग ज़िलों के लोगों के लिए खोल सके. इस कवायद के बीच उत्तराखंड हाई कोर्ट ने 28 जुलाई तक के लिए चार धाम यात्रा पर रोक लगा दी थी. स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर उत्तराखंड सरकार की खराब तैयारियों को कारण मानते हुए कोर्ट इस यात्रा को शुरू करने के पक्ष में नहीं रहा.

Advertisement
नैनीताल स्थित उत्तराखंड हाई कोर्ट भवन.
Char Dham Yatra 2018 | जानें चारधाम यात्रा के दौरान किन बातों का रखें ध्यान  - Navbharat Times

अब ताज़ा निर्देश जारी करते हुए और 20 दिनों के लिए इस रोक को बढ़ा दिया गया है. हालांकि कोर्ट इस पक्ष में रहा है कि चारों धामों से लाइव स्ट्रीमिंग के ज़रिये श्रद्धालुओं को दर्शन करवाए जाएं. लेकिन उत्तराखंड सरकार इस पक्ष में नहीं है. इस मामले में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने 17 जुलाई को कहा था, ‘वेदों में इस तरह का उल्लेख नहीं है इसलिए हमने सभी सुझावों के बाद लाइव स्ट्रीमिंग न करने का फैसला लिया है.’

उत्तराखंड के बाहर के श्रद्धालुओं के लिए खुली चारधाम यात्रा - chardham yatra  open for devotees outside uttarakhand musrnt

गौरतलब है कि चार धाम देवस्थानम बोर्ड के एक अधिकारी ने यह भी कहा, ‘धार्मिक मान्यताओं और बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री से जुड़ी परंपराओं को ध्यान में रखते हुए बोर्ड ने एकमत से तय किया कि धामों के गर्भगृह से होने वाली विशेष पूजा आदि की लाइव स्ट्रीमिंग नहीं की जाए.’

Advertisement
निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए बिहार ,UP, MP के हर जिले से रिपोर्टर आमंत्रित हैं!
बायोडाटा वाट्सऐप करें –  9142802566 ,   1Newstimes7@gmail.com
Advertisement

Related posts

सर्दियों से पहले दिल्ली की प्रदूषण से निपटने की तैयारी में जुटी केजरीवाल सरकार

News Times 7

अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी के पूर्व छात्र नेता पर हिन्दू देवता पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर महाराष्ट्र मे मामला दर्ज

News Times 7

देश में बेकाबू हुआ कोरोना, 24 घंटे में 2.61 लाख से ज्यादा हुए संक्रमित हर रोज बढ़ते मौत के मामले देश में चिंता का कारण

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़