News Times 7
टॉप न्यूज़बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़

फे़सबुक संस्थापक मार्क ज़करबर्ग को कांग्रेस का पत्र, व्हाट्सऐप-बीजेपी के गठजोड़ का आरोप

भारत की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने अमरीका की प्रतिष्ठित टाइम मैगज़ीन में छपे एक लेख को लेकर फ़ेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग को पत्र लिखकर आपत्ति जताई है.

मार्क ज़करबर्ग

दरअसल 27 अगस्त 2020 को टाइम मैगज़ीन में  शीर्षक से एक लेख छपा था. जिसमें फ़ेसबुक के मैसेंजिंग ऐप व्हाट्सऐप और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के बीच गठजोड़ की बात कही गई है.

Advertisement

इससे पहले एक ऐसा ही लेख अमरीकी अख़बार वॉल स्ट्रीट जनरल में छपा था. जिसका शीर्षक था – ‘ जिसमें फ़ेसबुक की भारतीय टीम के पक्षपात को रेखांकित किया गया था और लिखा गया था कि सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं के विवादित पोस्ट को लेकर इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने नियमों में ढील बरती.

वॉल स्ट्रीट जनरल के लेख को लेकर भी कांग्रेस ने फ़ेसबुक के संस्थापक को 17 अगस्त को पत्र लिखकर आरोपों की जांच करने के लिए कहा था और साथ ही उन्हें ये सुनिश्चित करने को कहा था कि भारत में उनकी कंपनी सही तरीक़े से काम करे.

कांग्रेस ने अब टाइम मैगज़ीन के लेख को लेकर लिखा कि हमें इतने कम वक़्त में आपको दोबारा इसलिए पत्र लिखना पड़ा क्योंकि एक प्रतिष्ठित अमरीकी पब्लिकेशन ने एक अन्य लेख में इस बारे में और जानकारी दी है.

Advertisement

पत्र में लिखा गया है कि टाइम मैगज़ीन के लेख में तीन मुख्य चौंकाने वाली बातें हैं, जो भारत में विदेशी कंपनियों के ऑपरेशन से जुड़े क़ानून और भावना दोनों का उल्लंघन करती हैं.

पहली बात जिसका कांग्रेस ने पत्र में ज़िक्र किया है वो है कि व्हाट्सऐप ने भारत में अपने पेमेंट ऑपरेशन के लिए एक ज़रूरी संभावित लाइसेंस हासिल करने के बदले बीजेपी को व्हाट्सऐप इंडिया के ऑपरेशन का नियंत्रण दे दिया.

दूसरे बिंदु में लिखा है कि भारत में आपकी कंपनी की लीडरशीप में एक से ज़्यादा व्यक्ति सत्तारूढ़ बीजेपी के मामले में पक्षपातपूर्ण काम करते हैं. ‘पहले जितना समझा जा रहा था ये समस्या उससे कहीं ज़्यादा बड़ी है.’

Advertisement

तीसरी बात लिखी है कि व्हाट्सऐप को 40 करोड़ भारतीय इस्तेमाल करते हैं और आपकी टीम इस प्लेटफॉर्म पर हेट स्पीच को इजाज़त देती है और इस तरह भारत के सामाजिक सद्भाव को नुक़सान पहुंचाती है.

पत्र में लिखा है कि एक प्रमुख विपक्षी पार्टी होने के नाते हम आपसे अपील करते हैं कि आप हमें बताएं कि आपकी कंपनी इन मामलों की पड़ताल के लिए क्या क़दम उठाने जा रही है. पत्र में ये अपील भी की गई है कि संस्था अपने भारतीय ऑपरेशन में सुधार के लिए एक्शन प्लान बनाए.

कांग्रेस का ये भी कहना है कि वो विधायी और न्यायिक क़दम उठाएगी ताकि कोई विदेशी कंपनी अपने निजी फ़ायदे के लिए इस तरह देश में सामाजिक वैमनस्य फैलाना जारी ना रख पाए.

Advertisement
Advertisement

Related posts

कानपुर मे पुलिस टीम पर हमला कर हिस्ट्रीशीटर को भगाया भाजपा नेता ने ,देखें पुरी विडियो

News Times 7

काँग्रेस के दलित मुख्य्मंत्री बनाने पर तिलमिलाईं बहन जी बोलीं- चुनावी लाभ लेने के लिए लिया यह निर्णय

News Times 7

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार ने पेश किया 8479 करोड़ का चुनावी बजट ,किसानों व बुजुर्गों को दिखाया लोभ का खजाना

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़