News Times 7
बिचार ब्रे़किंग न्यूज़

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राजधानी दिल्ली का नाम बदलने की मांग की जानिए क्या नाम बताया……

2014 के बाद से जब नरेंद्र मोदी की सरकार सत्ता में आए तब से नाम बदलने का प्रचलन शुरू हो गया कभी राज्यों के नाम बदले गए तो कभी रेलवे स्टेशन के नाम पर ले गए तो कभी ट्रेनों के नाम बदले गए हैं उसी हालात में फिर से एक बार भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने अब देश की राजधानी दिल्ली के नाम बदलने की मांग की है, डॉ. सुब्रमण्यन स्वामी ने शनिवार को ट्वीट कर राजधानी दिल्ली का नाम बदले जाने की मांग की है। इसके लिए उन्होंने द्रौपदी ट्रस्ट की डॉ. नीरा मिस्रा द्वारा किए गए एक शोध का भी हवाला दिया है।

 

स्वामी में दिल्ली का नाम बदलकर इंद्रप्रस्थ रखने की मांग उठाई है। उन्होंने लिखा कि डॉ. नीरा मिस्रा के शोध में पाए गए तथ्य राजधानी के दोबारा नामकरण के लिए पर्याप्त हैं। इसके साथ ही स्वामी ने यह भी लिखा कि तमिलनाडु के एक महान ऋषि ने मुझे बताया था कि जबतक दिल्ली का नाम बदलकर इंद्रप्रस्थ नहीं कर दिया जाता तबतक देश में विवादों की स्थिति बनी रहेगी।

Advertisement

Uttarakhand: Bjp Kept Distance From Its Leader Subramanian Swamy -  उत्तराखंडः अपने नेता सुब्रमण्यम स्वामी से ही दूरी बनाए है भाजपा, क्यों?  पढ़ें पूरा मामला - Amar Ujala Hindi News Live
बता दें कि डॉ. नीरा मिस्रा ने अपने शोध पत्र में ऐसे कई साक्ष्य इकट्ठे किए हैं जिनसे यह प्रमाणित होता है कि वर्षों पहले मौजूदा दिल्ली का नाम इंद्रप्रस्थ हुआ करता था। शोध में बताया गया है कि महाभारत में तो इसका जिक्र है ही, साथ ही 1911 में ब्रिटिश सरकार की अधिसूचना में भी इसके प्रमाण मिलते हैं। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के रिकॉर्ड के साथ ही ब्रिटिश व मुगल शासन के राजस्व व अन्य रिकॉर्ड में भी इसका नाम इंद्रप्रस्थ होने का उल्लेख है।

निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए बिहार ,UP, MP के हर जिले से रिपोर्टर आमंत्रित हैं!
बायोडाटा वाट्सऐप करें –  9142802566 ,   1Newstimes7@gmail.com
Advertisement

Related posts

रेलयात्रियों के लिए खुशखबरी :अब अपने कंफर्म टिकट पर परिवार के किसी दूसरे व्‍यक्ति को भी करा सकते है सफर

News Times 7

चेतन भगत ने किया ट्वीट, आम आदमी के हाथ में होगी कोरोना वैक्सीन

News Times 7

हाई कोर्ट ने पूछा है- ‘सांसदों की अंतरात्मा को झकझोरने के लिए और कितनी निर्भयाओं के बलिदान की जरूरत है?

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़