News Times 7
बड़ी-खबरब्रे़किंग न्यूज़

बेटे ने दी मुखाग्नि : राजकीय सम्मान के साथ पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का हुआ अंतिम संस्कार

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का पार्थिव शरीर लोधी रोड स्थित शमशान घाट पहुंच गया है। थोड़ी देर में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। वहीं अंतिम यात्रा में शामिल होने वाले ज्यादातर लोग पीपीई किट पहनकर पहुंचे हैं। इससे पहले उनके शव को 10, राजाजी मार्ग स्थित आवास पर अंतिम दर्शनों के लिए रखा गया था। जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और तीनों सेनाओं के प्रमुखों सहित कई गणमान्य व्यक्तियों ने पूर्व राष्ट्रपति को श्रद्धांजलि अर्पित की। यहां पढ़ें सभी अपडेट्स-

छविछवि

राजकीय सम्मान के साथ हुआ पूर्व राष्ट्रपति का अंतिम संस्कार
देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जा रहा है। उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी सहित परिवार के बाकी सदस्य पीपीई किट पहने हुए नजर आए।
राजनीति के अजातशत्रु को दिया जा रहा है गार्ड ऑफ ऑनर
पूर्व राष्ट्रपति और राजनीति के अजातशत्रु कहे जाने वाले प्रणब मुखर्जी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जा रहा है।

शमशान घााट पहुंचा पार्थिव शरीर
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का पार्थिव शरीर लोधी रोड स्थित शमशाम घाट पहुंच गया है। थोड़ी देर में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Advertisement

छविछवि

श्मशान घाट ले जाया है प्रणब मुखर्जी का पार्थिव शरीर
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के पार्थिव शरीर को उनके निवास स्थान, 10 राजाजी मार्ग, से लोधी स्थित शमशान घाट ले जाया जा रहा है। उनका सोमवार को सैन्य अस्पताल में निधन हो गया था। इससे पहले 10 अगस्त को वे कोरोना संक्रमित पाए गए थे।
गृह मंत्रालय ने पूर्व राष्ट्रपति की मौत पर जताया दुख
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा, ‘केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया और अपनी संवेदनाएं व्यक्त कीं। कैबिनेट ने उनकी स्मृति में दो मिनट का मौन भी रखा।’
सबको साथ रखने की कला में प्रणब मुखर्जी को महारत थी : अमित शाह
गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पूरे देश के लिए गहरे दुख और सदमे की बात है कि भारत रत्न प्रणब मुखर्जी हम सबके बीच में नहीं रहे। सबको साथ रखने की कला में प्रणब मुखर्जी को महारत थी। जब सत्ता में थे तो विपक्ष के लोगों के साथ तालमेल बिठाने में वो हमेशा काम करते रहे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति बने तब राष्ट्रपति पद की गरिमा को भी बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। राष्ट्रपति भवन को आम आदमी के लिए खोलना ये उनका बहुत बड़ा फैसला था।देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उनके आवास 10, राजाजी मार्ग पर श्रद्धांजलि दी।देश के पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को उनके आवास पर श्रद्धांजलि दी।पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने श्रद्धांजलि दी।पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धाजंलि देने के लिए आज सुबह 11 बजे कैबिनेट की बैठक होगी
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा, ‘प्रणब मुखर्जी ने एक शून्य छोड़कर चले गए हैं। वे उदार और दयालु थे, जो मुझे यह भुला देते थे कि मैं भारत के राष्ट्रपति से बात कर रहा हूं। राजनीतिक मतभेदों के बावजूद, सभी को अपना बनाना उनकी प्रकृति में था। उन्हें हमेशा याद किया जाएगा।’

 

 

Advertisement
Advertisement

Related posts

5G सर्विस को लेकर सरकार ने किया बड़ा ऐलान

News Times 7

अग्निपथ के खिलाफ जारी हिंसक विरोध-प्रदर्शन में युवाओं ने भाजपा कार्यालय में लगाईं आग

News Times 7

दुनिया में फिर से कोरोना के नए वैरिएंट ‘बी.1.1.529 की वापसी ,भारत में अलर्ट जारी

News Times 7

Leave a Comment

टॉप न्यूज़
ब्रेकिंग न्यूज़